जनता पर पड़ी महंगाई की मार, रिकॉर्ड बढ़े डीजल के दाम

नई दिल्ली (28 दिसंबर): डीजल के दामों में हुई बढ़ोतरी के कारण देश की आम जनता पर आने वाले दिनों में महंगाई की मार पड़ने वाली है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में हुए इजाफे के कारण देश की राजधानी दिल्ली में तो डीजल का भाव रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया है। वहीं पेट्रोल के दाम करीब 7 हफ्ते के ऊपरी स्तर पर हैं।

गुरुवार को देश की राजधानी दिल्ली में डीजल का दाम 59.47 रुपए प्रति लीटर दर्ज किया गया, इससे पहले दिल्ली में कभी भी डीजल इतने ज्यादा भाव पर नहीं बिका है। सिर्फ दिल्ली ही नहीं बल्कि देश के दूसरे शहरों में भी डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी देखी जा रही है, गुरुवार को कोलकाता में डीजल का दाम 62.13 रुपए और चेन्नई में 62.65 रुपए प्रति लीटर दर्ज किया गया, कोलकाता में जुलाई 2014 और चेन्नई में अगस्त 2014 के बाद डीजल का भाव इस स्तर तक पहुंचा है। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में गुरुवार को डीजल का दाम 62.97 रुपए प्रति लीटर दर्ज किया गया, मुंबई में 2017 की शुरुआत में डीजल 64 रुपए के ऊपर था।  

पेट्रोल की कीमतों में भी लगी आग पेट्रोल की बात करें तो उसकी कीमतों में भी आग लगी हुई है। गुरुवार को दिल्ली में पेट्रोल का दाम 69.81 रुपए, कोलकाता में 72.56 रुपए, मुंबई में 77.71 रुपए और चेन्नई में 72.36 रुपए प्रति लीटर दर्ज किया गया।

कच्चा तेल हो गया हा महंगा दरअसल पिछले कुछ दिनों सें अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी देखी जा रही है जिस वजह से देश की ऑयल मार्केटिंग कंपनियों की लागत में बढ़ोतरी हुई है और उन्होंने पेट्रोल और डीजल का भाव बढ़ाना शुरू कर दिया है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में डब्ल्युटीआई क्रूड का भाव 60 डॉलर और ब्रेंट क्रूड का भाव 68 डॉलर प्रति बैरल के करीब है, इस वजह से भारतीय बास्केट के लिए भी कच्चे तेल की कीमतें बढ़ी हैं और ऑयल मार्केटिंग कंपनियों को कच्चा तेल खरीदने के लिए ज्यादा कीमत चुकानी पड़ रही हैं।