विधानसभा में विस्फोटक मिलने के बाद बोले योगी- सुरक्षा सिर्फ सरकार की जिम्मेदारी नहीं

लखनऊ(14 जुलाई): उत्तर प्रदेश विधानसभा में विस्फोटक मिलने से हड़कंप मच गया है। बुधवार जांच के दौरान पाए गए पदार्थ की पुष्टि शुक्रवार को फॉरेंसिक जांच के बाद PETN विस्फोटक के रूप में हुई। घटना के बाद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज विधानसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि सुरक्षा सिर्फ सरकार की जिम्मेदारी नहीं है। उन्होंने कहा कि 12 जुलाई को बजट सत्र के दौरान कोई भी विधायकों के अलावा कोई नहीं आ सकता है, लेकिन नेता विपक्ष की सीट के पास विस्फोटक मिलना चिंता का विषय है। योगी ने मांग की इस मामले की जांच NIA करें।

- योगी ने सभी विधायकों से अपील की, कि कोई भी विधायक विधानसभा में फोन लेकर ना आए, अगर कोई फोन लेकर आता है तो उसे साइलेंट फोन पर रखे। अगर कोई विधायक भाषण देना चाहता है तो अपने साथ नोटबुक लेकर आए।

- योगी ने कहा कि फॉरेंसिक जांच के बाद पता चला कि ये एक विस्फोटक है, पूरे विधानसभा को उड़ाने के लिए मात्र 500 ग्राम विस्फोटक की आवश्यकता है। यहां विस्फोटक मिलना चिंता की बात है। योगी ने कहा कि विधानसभा में 150 ग्राम विस्फोटक एक पुड़िया में मिला है।

- उन्होंने कहा कि स्थिति की गंभीरता को देखते हुए किसी एक व्यक्ति विशेष के लिए सुरक्षा में कोई छूट नहीं दे सकते हैं। इस विस्फोटक का सामान्य रूप से पता नहीं लग सकता है। डॉग स्कवॉयड भी इसे सूंघने में सफल नहीं हो पा रहा था, ये एक साजिश है। मैं चाहता हूं कि जो भी यहां पर कर्मचारी काम करते हैं, उनका पुलिस वेरिफिकेशन होना चाहिए।

- योगी ने कहा कि अगर हम एयरपोर्ट में भी जाते हैं तो जांच करवानी पड़ती है। इसलिए सदन में भी आने पर हर किसी की सुरक्षा होनी चाहिए, इस सुरक्षा में सेंध लगाने वाले कौन हैं इसकी जांच होनी चाहिए। जो भी इसके पीछे हैं उनकी जांच होनी चाहिए।

- योगी ने कहा कि हमारी विधानसभा के पास कोई भी सुरक्षा की तैयारी नहीं है, ये काफी गंभीर मुद्दा है कि देश की सबसे बड़ी विधानसभा होने के बावजूद भी ऐसी सुरक्षा नहीं है। हमारे पास आतंकी हमले के लिए भी कोई रिस्पांस टीम नहीं है। विधानसभा में बिना पास के वाहनों की एंट्री बंद होनी चाहिए, विधानसभा में QRT टीम होनी चाहिए।

- योगी ने कहा कि सभी बैग और मोबाइल रखने के लिए विधानसभा के बाहर व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि तीन लेयर सुरक्षा होने के बावजूद इस तरह की घटना होना दिखाता है कि कुछ लोग जानबूझ कर शरारत कर रहे हैं।