अब अकेले उड़ान भरने का पूरा होगा सपना, इसी साल से मिलने लगेगी ये मशीन

नई दिल्ली ( 25 अप्रैल ): सिलिकन वैली की एक स्टार्ट अप कंपनी किट्टी हॉक अपनी फ्लाइंग कार प्रोटोटाइप मॉडल का वीडियो शेयर करते हुए घोषणा कि इस पर्सनल फ्लाइंग मशीन की डिलीवरी इस साल शुरू करने की योजना है। हर इंसान ने कभी न कभी यह सपना जरूर देखा होगा कि वह उड़ रहा है और अब उनका सपना भपूरा होने वाला है।


सिलिकॉन वैली की 'फ्लाइंग कार' बनाने में जुटी स्टार्ट-अप कंपनी 'किटी हॉक' इस सपने को पूरा करने का दावा कर रही है। बताया जाता है कि 'किटी हॉक' को दुनिया के सबसे ज़्यादा इस्तेमाल किए जाने वाले सर्च इंजन गूगल के सह-संस्थापक लैरी पेज का समर्थन हासिल है और सोमवार को कंपनी ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें उसने अपने प्रोटोटाइप (नमूने) को दुनिया के सामने पेश करते हुए जानकारी दी है कि वह इस साल के अंत तक इस 'व्यक्तिगत फ्लाइंग मशीन' की डिलीवरी शुरू कर देगी।


आठ रोटरों से संचालित होने वाले इस विमान की एक खासियत यह भी है कि यह रनवे पर दौड़कर नहीं, हेलीकॉप्टर या चॉपर की तरह सीधी उड़ान भर लेता है। बताया गया है कि इसका वजन 220 पाउंड (100 किलोग्राम) है और यह सतह से 15 फुट (साढ़े चार मीटर) ऊंचाई पर 25 मील प्रतिघंटा (40 किलोमीटर प्रतिघंटा) की रफ्तार से उड़ सकता है।