49 साल से मुंबई में रह रहा आसिफ, अब भेजा जाएगा पाकिस्तान!

नई दिल्ली(24 दिसंबर): भारत में रह रहे एक शख्स को जबरन पाकिस्तान भेजे जाने का डर सता रहा है। 51 साल का यह व्यक्ति पिछले 49 साल से देश में ही रह रहा है लेकिन उनपर अब अचानक पाकिस्तानी होने का ठप्पा लगा है जबकि इस व्यक्ति के पास आधार कार्ड से लेकर वोटिंग कार्ड तक सभी प्रमाण पत्र है। इस अजीबो गरीब स्तिथि का कारण जानकर आप चोक जाएंगे।

- 51 साल के आसिफ कराड़िया जब दो साल के थे तब से हिंदुस्तान में रह रहे हैं। हर नागरिक की तरह उनके पास भी आधार कार्ड से लेकर डोमिसाइल और वोटिंग कार्ड से लेकर पैन कार्ड सभी महत्वपूर्ण प्रमाण पत्र है। उनका दिल भी हिंदुस्तान के लिए धड़कता है और हर देश वासी की तरह उन्हें भी अपने वतन से मोहब्बत और लगाव है। लेकिन देश के जिस मोहलले में उनका बचपन बीता जिन गलियारों में पले बडे वही से उन्हें जबरन निकाले जाने का डर सता रहा है। क्योंकि उनपर अचानक पाकिस्तानी होने का थप्पा लग चुका है। यह अजीब परिस्तिथि की वजह जानकार आप हैरान हो जाएंगे। फिलहाल देश से निष्काषित किये जाने की लटकी हुई तलवार लिए आसिफ का यही कहना है कि वह हिंदुस्तानी है और देश में ही रहेंगे।

- दरअसल आसिफ का जन्म पाकिस्तान में हुआ है। उनके पिता हिंदुस्तानी है और शादी हिंदुस्तान में ही रहने वाली पाकिस्तानी मुल्क की लड़की से की। परिवार के रिवाज़ के मुताबिक पहली औलाद मायके में होती है इसलिए 1965 में आसिफ की माँ अपने मायके कराची चली गई, आसिफ का जन्म वही हुआ। जन्म देने के बाद माँ बेटे तुरंत हिंदुस्तान लौटना चाहते थे, लेकिन दोनों देश के बीच युद्ध छिड़ गया और दो साल तक आसिफ को उसकी माँ के साथ मजबूरन वही रुकना पड़ा। लेकिन 1967 में लौटने के बाद परिवार के किसी सदस्य ने पाकिस्तान का नक्शा तक नही देखा। 70 साल की जैबुनिशा बताती हैं कि जब मुझे भारतीय नागरिकता मिल गई तो बेटा पाकिस्तानी कैसे हुआ?

- हैरानी की बात है कि खुद आसिफ और उसके परवार वालो ने भी कभी नहीं सोचा कि वह पाकिस्तानी है। वह तो साल 2012 में जब पिता ने हज के लिए उनका पासपोर्ट बनवाने की अर्जी दी तब यह खुलासा हुआ। आसिफ के पिता का कहना है कि सरकारी अधिकारी ने उन्हें लॉन्ग टर्म वीजा के आवेदन की सलहा दी और परिवार वालो ने भी वीज़ा के लिए आवेदन दे दिया। साथ ही साल 2012 से इस मामले को प्रकाश में लाने के लिए विदेश मंत्रालय से लेकर गृह मंत्रालय तक सभी जगहों पर लगातार मदद के पत्र लिखे लेकिन कोई जवाब नही आया।

- लॉन्ग टर्म वीज़ा की अर्जी के बाद मुंबर्इ पुलिस ने इसी साल जून में आसिफ कराड़िया को नोटिस भेजकर उन्हें पाकिस्तानी पासपोर्ट दिखाने के लिए कहा था।

- नोटिस में कहा गया था कि यदि वे एेसा नहीं करते हैं तो उन्हें पाकिस्तान भेज दिया जाएगा। पुलिस की आेर से नोटिस मिलने के बाद आसिफ ने हार्इकोर्ट से भारतीय नागरिकता देने की मांग की थी।

- आसिफ के वकील सुजय कांतावाला के मुताबिक हमारा कानून कहता है जिसके माता-पिता हिंदुस्तानी हैं वह भारतीय नागरिकता का पात्र है।

- आसिफ की शादी हो चुकी है, बेटा-बेटी और नातिन भी है। ऐसे में परिवार कह रहा है अब उनको पाकिस्तानी कहना कहां का इंसाफ है। आसिफ की पत्नी शाकिरा आसिफ के मुताबिक उनके ऊपर तो आसमान ही टूट पड़ा है।

- पडोसी मुल्क के कई लोग हिंदुस्तान में बसे है और उन्हें देश की नागरिता भी दी गई है। अदनान सामी इसका सबसे बड़ा उदारण है। लेकिन इस मामले में देश में 49 साल रहने के बावजूद और सभी प्रमाण पत्र होने के बावजूद 51 साल के आसिफ पर देश निकाली का संकट पौदा हो गया है। परिवार वालो ने आसिफ के नागरिता के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया है।