पंजाब-हरियाणा किले में तब्दील, जुटने लगे राम रहीम समर्थक

विशाल एंग्रीश, पंचकुला (23 अगस्त): अदालत के एक फैसले से पहले पंजाब और हरियाणा की किलेबंदी हो चुकी है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात किए गए हैं। दो दिन बाद यानी 25 अगस्त को डेरा सच्चा सौदा प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम के खिलाफ रेप केस में फैसला आने वाला है। चंडीगढ़ और पंचकुला में करीब एक लाख से अधिक डेरा समर्थक जुट चुके हैं। किसी भी अनहोनी को टालने के लिए पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा के खास इंतजाम किए हैं। यहां तक की एक स्टेडियम को अस्थाई जेल में बदल दिया गया है।

25 अगस्त को पंचकुला की सीबीआई कोर्ट डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गरमीत राम रहीम सिंह पर फैसला आना है । उनके ऊपर रेप का आरोप है। करीब एक लाख से अधिक डेरा समर्थक चंडीगढ़ और पंचकुला पहुंच चुके हैं। अदालत के फैसले की प्रतिक्रिया का हिसाब लगाते हुए पुलिस-प्रशासन ने पूरे पंजाब को किले में तब्दील कर दिया है। खासकर चंडीगढ़ और पंचकुला में।

पंचकुला में डेरा समर्थक के जुटान को देखते हुए धारा 144 लागू कर दी गई यानी एक साथ 5-6 से ज्यादा लोग नहीं जुट सकते । पंजाब के बठिंडा, मानसा, संगरूर, पटियाला और बरनाला को भी संवेदनशील घोषित किया गया है। पंजाब, हरियाणा व चंडीगढ़ की सीमाएं सील कर धारा 144 लगा दी गई है। चंडीगढ़ के इस बड़े स्टेडियम को अस्थाई जेल में बदल दिया गया है, जिससे सीबीआई कोर्ट के फैसले के बाद उपद्रवी लोगों को जेल भेजा जा सके।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार से पैरा मिलिट्री की 256 कंपनियों की मांग की है।
अब तक पंजाब को पैरा मिलिट्री की सिर्फ 75 कंपनियां मिली हैं। चंडीगढ़ पुलिस को 20 पैरा मिलिट्री कंपनियां देने की तैयारी है। मालवा बेल्ट के बड़े अस्पतालों को अलर्ट कर दिया गया है। फायर ब्रिगेड भी पूरी तरह से मुस्तैद है। पंचकुला में जिस सीबीआई अदालत में फैसला सुनाया जाना है, उसके रास्ते को सील कर दिया गया है।

हरियाणा में पुलिस की चप्पे-चप्पे पर नजर है। खट्टर सरकार ने सरकारी अस्पतालों के कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द की। अस्पतालों को 30 अगस्त तक 24 घंटे किसी भी इमरजेंसी से निपटने के लिये तैयार रहने को कहा है।
करीब एक लाख डेरा समर्थक चंडीगढ़ और पंचकुला में पहुंच चुके हैं। उनके खाने पीने का भी तगड़ा इंतजाम बाबा समर्थकों की ओर से किया गया है। बाबा राम रहीम के रेप केस पर पंचकूला कोर्ट को फैसला सुनाना है। ऐसे में पुलिस को आशंका है कि राम रहीम के भक्तों की गतिविधियां बढ़ सकती हैं। इसे ध्यान में रखते हुए पंचकुला कोर्ट के आसपास गाड़ियों की आवाजाही बंद कर दी गई हैं। जरूरी सामान और कोर्ट के कर्मचारियों की गाड़ियों की भी सघन तलाशी ली जा रही है। बाबा राम रहीम पर अदालत के फैसले से पहले ही हरियाणा और पंजाब पूरी तरह से छावनी में बदल चुके हैं।