मोदी को गोद लेने की कोशिशें शुरु, रजिस्ट्रार दफ्तरों में लगी अर्जियां !

नई दिल्ली (22 फरवरी): बाराबंकी में रैली के दौरान 'यूपी का गोद लिया बेटा' वाले बयान को लेकर चल रहे हंगामे के बीच गाजियाबाद के लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गोद लेने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके तहत पतला-निवाड़ी के पूर्व चेयरमैन योगेंद्र पाल योग अपनी पत्नी के साथ सब-रजिस्ट्रार के ऑफिस पहुंचे और पीएम मोदी को गोद लेने के लिए आवेदन पेश किया। हालांकि, सब-रजिस्ट्रार ने यह कहकर उन्हें लौटा दिया कि जब तक गोद देने वाला पक्ष उपस्थित नहीं होता है, तब तक गोदनामे के रजिस्ट्रेशन पर कार्रवाई करना संभव नहीं है। विधानसभा चुनाव के दौरान बाराबंकी की एक जनसभा में लोगों से कहा था कि जो विकास कार्य यूपी का बेटा (अखिलेश यादव) नहीं कर पाया, वह उनका गोद लिया बेटा (मोदी) करेगा। इसके बाद उत्तर प्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटिस भेजा था। आयोग ने उनसे पूछा था कि यूपी में आपको किसने गोद लिया?