असम के स्वास्थ्य मंत्री का बेतुका बयान, बोले- 'पूर्व जन्म के पाप से होता है कैंसर और हादसा'

गुवाहाटी (22 नवंबर) : हर दिन हम किसी न किसी मंत्री के विवादित और बेतुके बयान सुनते आए है। शायद ही कभी ऐसा दिन हो कि किसी मंत्री ने कोई विवादित बयान न दिया हो, इसी कड़ी में असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत विश्व शर्मा का भी एक बेतुका बयान सामने आया है। 

स्वास्थ्य मंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने कहा कि कुछ लोग कैंसर जैसी घातक बीमारियों से इसलिए ग्रस्त हैं क्योंकि उन्होंने अतीत में पाप किये हैं और यह ‘‘ईश्वर का न्याय’’ है। उनके इस विवादित बयान के बाद विवाद खड़ा हो गया है। इस टिप्पणी की राजनीतिक दलों और कैंसर के मरीजों ने कड़ी आलोचना की।

शर्मा ने मंगलवार को यहां शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरित करने के लिए आयोजित कार्यक्रम में कहा, जब हम पाप करते हैं तो भगवान हमें सजा देता है। कई बार हम देखते हैं कि युवाओं को कैंसर हो गया या कोई युवा हादसे का शिकार हो गया। अगर आप पृष्ठभूमि देखेंगे तो आपको पता चलेगा कि यह ईश्वर का न्याय है.और कुछ नहीं। हमने ईश्वर के न्याय का सामना करना होगा। 

स्वास्थ्य मंत्री के बेतुके बयान के बाद कांग्रेसी नेता देबब्रत साइकिया ने कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि स्वास्थ्य मंत्री ने कैंसर के मरीजों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली टिप्पणियां कीं। चूंकि उन्होंने यह टिप्पणी सार्वजनिक रूप से की है, मंत्री को इसके लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए।