#Pathankot: शहीद के शव को देख रो पड़ा पूरा गांव, पिता बोले- बेटे की शहादत पर फख्र

अंबाला (4 जनवरी): पठानकोट एयर बेस पर हुए आतंकी हमले में अंबाला का एक जवान भी शहीद हो गया। अंबाला में जैसे ही गुरसेवक के पार्थिव शरीर को एयरफोर्स के जवान लेकर पहुंचे। पूरे गांव में मातम फैल गया। यहां सबकी आंखों में आंसू थे लेकिन देश भक्ति के नारे लगते रहे।

पिता को बेटे के शहादत पर फख्र गुरसेवक के अंतिम दर्शन के लिए लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। महज 26 साल की उम्र में अंबाला के गरनाला के गुरसेवक कायर दहशतगर्दों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए। शहीद गुरसेवक के गाँव में आज मातम है। पूरा गांव रो रहा है तो पिता को अपने बेटे की शहादत पर फख्र है।

कुछ दिन पहले ही हुई थी शादी कुछ दिन पहले ही गुरसेवक की शादी हुई थी। अभी उनका परिवार बसा भी नहीं था, नई ज़िंदगी पूरी तरह से शुरू भी नहीं हुई थी कि सारे सपने उजड़ गए। पठानकोट के आतंकी हमले में गुरसेवक शहीद हो गए। अंबाला के रहने वाले गुरसेवक की शहादत की खबर जब अंबाला पहुंची तो पूरे अंबाला में शोक की लहर दौड़ गई।

परिवार का मुखिया था शहीद गुरसेवक की शहादत की खबर एयर फ़ोर्स के अधिकारियों के ज़रिए परिवार को मिली। परिवार इस खबर को दो तरह से देख रहा है। पिता कह रहे हैं कि एक तरफ खुशी है कि बेटा देश के लिए शहीद हुआ है और दूसरी तरफ दुख भी जता रहे हैं क्योंकि पिता सच्चा सिंह के लिए बेटा गुरसेवक परिवार का मुखिया था।

आतंकी हमले के दौरान ड्यूटी पर थे गुरसेवक एयरफोर्स के अधिकारियों ने बताया कि गुरसेवक आतंकियों के हमले का जवाब देते हुए शहीद हुए हैं। जिस वक्त पाकिस्तान से आए आतंकियों ने हमला किया उस वक्त गुरसेवक ड्यूटी पर थे। गुरसेवक इंडियन एयर फ़ोर्स में कपल पद पर तैनात थे। पिछले पांच साल से वो एयरफोर्स से जुड़े थे। लेकिन कल का दिन उनकी ज़िंदगी के लिए आखिरी दिन साबित हुआ।

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=1KkRX862ILc&feature=youtu.be[/embed]