पीडीपी सांसद तारिक कर्रा ने पार्टी और लोकसभा से दिया इस्तीफा

श्रीनगर (15 सितंबर): पीडीपी के लोकसभा सांसद तारिक कर्रा ने आरएसएस से मिलीभगत का आरोप लगाते हुए पार्टी छोड़ने का ऐलान किया। यही नहीं उन्होंने लोकसभा की सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया है।

पत्रकारों से बातचीत में कर्रा ने कहा, 'पीडीपी अब फासीवादी संगठन आरएसएस की सहयोगी के तौर पर काम कर रही है।' 2014 के आम चुनावों में पीडीपी के टिकट पर लोकसभा पहुंचे कर्रा को दिवंगत पूर्व सीएम और पीडीपी संस्थापक मुफ्ती मोहम्मद सईद का करीबी माना जाता था। वह पीडीपी के संस्थापक सदस्यों में से एक रहे हैं। ऐसे में कर्रा का पार्टी छोड़ना बड़ा झटका माना जा रहा है।

तारिक कर्रा शुरुआत से ही पीडीपी और बीजेपी के बीच गठबंधन के विरोधी रहे हैं। वह पहले भी कई बार इस गठजोड़ का विरोध कर चुके थे। उनका यह इस्तीफा ऐसे वक्त में आया है, जब कश्मीर घाटी में करीब दो महीने से अशांति का माहौल है।