कर्ण सिंह के बेटे विक्रमादित्य ने पीडीपी से दिया इस्तीफा

नई दिल्ली(22 अक्टूबर): तीन साल पहले ही जम्मू कश्मीर की सत्तारूढ़ पार्टी पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) में शामिल हुए नेता विक्रमादित्य सिंह ने अपना इस्तीफा सौंप दिया है। विक्रमादित्य कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य कर्ण सिंह के पुत्र हैं। 

- विक्रमादित्य ने जम्मू कश्मीर विधानपरिषद के सदस्य से भी इस्तीफा दे दिया है। 

- विक्रमादित्य ने अपना इस्तीफा सोशल मीडिया साइट्स ट्विटर और फेसबुक पर भी शेयर किया। दरअसल विक्रमादित्य ने सरकार के समक्ष कुछ मांगें रखी थी जिसे पीडीपी द्वारा अस्वीकार किये जाने के चलते वे नाराज थे। उनकी मांगों में रोहिंग्या लोगों के गैर कानूनी रूप से बसने, स्कूली पाठ्यपुस्तकों में डोगरा शासन की अवधि को शामिल करने और हरि सिंह के जन्मदिन की सालगिरह पर सार्वजनिक छुट्टी शामिल थी जिनका जिक्र उन्होंने अपने इस्तीफे में भी किया है।

- विक्रमादित्य ने लिखा, 'मेरे लिए ऐसी पार्टी में अब और बने रहना संभव नहीं है जो जम्मू क्षेत्र के लोगों की मांगों और अरमानों का लगातार तिरस्कार कर रही है।'    - विक्रमादित्य कश्मीर के राजा हरि सिंह के पोते भी हैं। इनके पिता कर्ण सिंह 1967 में पर्यटन व विमानन मंत्री भी रह चुके हैं। कर्ण सिंह वर्तमान में राज्यसभा के सदस्य हैं। इससे पहले वह कश्मीर के सदर-ए-रियासत और राज्यपाल भी रह चुके हैं।