अमित शाह ने ऐसे बनाया कश्मीर प्लान, किसी को नहीं लगी भनक

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 जून): जम्मू-कश्मीर में अचानक से बीजेपी ने पीडीपी से समर्थन वापस लेने की घोषणा करके राजनैतिक गलियारों में हड़कंप मचा दिया है। हालांकि इसके पीछे भी भारतीय जनता पार्टी के चाणक्य अमित शाह का दिमाग है। बताया जा रहा है कि इस बारे में शाह ने सिर्फ पीएम मोदी और कुछ विशेष लोगों से चर्चा करके फैसला लिया।खास बात यह है कि पार्टी के शीर्ष कमान की ओर से किए गए फैसले से पहले राज्य में उनके मंत्रियों को भी इस फैसले की भनक तक नहीं थी। अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना, पार्टी के महासचिव (संगठन) अशोक कौल और राज्य सरकार में शामिल मंत्रियों को वहां के हालात का जायजा लेने वास्ते अहम बैठक के लिए मंगलवार को दिल्ली आने को कहा है।इनसे पहले अमित शाह ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल से कश्मीर के हालात पर चर्चा की। दोनों की मुलाकात के बाद यह लगने लगा था कि कुछ बड़ा होने वाला है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना को भी इस बारे में कुछ नहीं बताया गया था और उन्होंने कहा कि यह बैठक 2019 के लोकसभा चुनाव के सिलसिले में बुलाई गई है।डोभाल ने अमित शाह से मुलाकात के दौरान ने बताया कि राज्य में आतंकियों पर कार्रवाई के लिए किस तरह के प्लान बनाए गए हैं।