PDP से गठबंधन टूटने के बाद कश्मीर में यह काम करेगी BJP

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 जून): तीन साल तक पीडीपी को बहूमत देने के बाद अचानक से बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर सरकार से समर्थन वापसी की घोषणा कर ली है। प्रेस कांफ्रेंस करते हुए मीडिया को संबोधित करने वाले बीजेपी महासचिव राम माधव ने खुलकर इस बात की घोषणा भी कर दी कि प्रदेश में महबूबा सरकार काम करने में नाकाम रही।अब यह पूरी तरह से साफ हो गया है कि पीडीपी में सरकार के गिरने के बाद राज्यपाल शासन लग जाएगा, जिसके बाद बीजेपी के हाथ में प्रदेश पूरी तरह से होगा। इस‍के पीछे घाटी में बढ़ती आतंकवाद की घटनाओं को भी बताया जा रहा है।सूत्रों के मानें तो कुछ दिन पहले ही सरकार को यह रिपोर्ट भी मिली थी कि दक्षिण कश्मीर में युवा तेजी से आतंकी संगठनों के साथ जुट रहे हैं। ऐसे में सरकार के लिए सबसे बड़ी चिंता यह थी कि कैसे इसपर काबू किया जाए। इसलिए माना जा रहा है कि सरकार अब ऑपरेशन ऑल आउट में तेजी लाएगी और पाकिस्तान की तरफ से बढ़ रहे सीजफायर का भी करारा जवाब देगी।

अब यह काम बिना रोक-टोक के करेगी बीजेपी:1: ऑपरेशन ऑल आउट में तेजी2: पाकिस्तान की तरफ से हो रहे सीजफायर का कड़ा जवाब3: पत्थरबाजों से सख्ती से निपटेगी4: ज्यादा से ज्यादा जवानों को राज्य में उतारकर शांति स्थापति करने की कोशिश करेगी5: एक बार फिर हिंदुत्व को प्रदेश में मजबूत करने की कोशिश करेगी6: राजनैतिक नुकसान की भरपाई करने के लिए विकास कार्यों पर भी ध्यान देगी7: लद्दाख और जम्मू में विकास कार्यों को आगे बढ़ानाकिसको मिली थी कितनी सीटेंपीडीपी 28बीजेपी 25एनसी 15कांग्रेस 12अन्य 7