इस वजह से टीम में चुने गए पवन नेगी, ये है खासियत

नई दिल्ली(6 फरवरी): दिल्ली के 23 साल के बाएं हाथ के स्पिनर पवन नेगी वर्ल्ड टी-20 के लिए भारतीय टीम का सरप्राइज़ चेहरा हैं। उन्हें श्रीलंका के ख़िलाफ़ टी-20 सिरीज़ के लिए पहले ही चुना जा चुका है। हालांकि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उनका डेब्यू होना अभी बाक़ी है।

पवन नेगी में ऐसा क्या खास है कि उनको वर्ल्ड टी-20 जैसे बड़े टूर्नामेंट में खेलने का मौक़ा मिलने वाला है। पवन बेहद कूल स्वभाव के माने जाते हैं। नेगी की इस कूलनेस में टीम इंडिया के मौजूदा कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का अहम योगदान रहा है। बीते दिनों एक चैनल से बात करते हुए पवन नेगी ने कहा था कि मैच सिचुएशन को समझने और उसके मुताबिक़ खेलने का नज़रिया विकसित करना मैंने धोनी से सीखा है।

दरअसल, नेगी को आईपीएल के 2015 सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से खेलने का मौक़ा मिला। 10 मैचों में उन्हें विकेट तो छह ही मिले, लेकिन उन्होंने इन मैचों में 116 रन बनाए और उनकी स्ट्राइक रेट 150 के आसपास है। बाएं हाथ के स्पिनर और बल्लेबाज़ के बतौर पवन नेगी कप्तान धोनी का भरोसा जीतने में कामयाब रहे। इसके बाद चैंपियंस लीग के फ़ाइनल में वे मैन ऑफ़ द मैच आंके गए। उनकी पहचान टी-20 के स्पेशलिस्ट खिलाड़ी के तौर पर लगातार मज़बूत होती गई। नेगी की एक बड़ी ख़ासियत यह भी है कि वे ज़ोरदार हिट लगाने वाले बल्लेबाज़ हैं और ज़रूरत पड़ने पर तेजी से रन बटोर सकते हैं।