कुछ ही सेकेंड में हैक हो सकता है आपके स्मार्टफोन का पैटर्न लाॅक, ऐसे बचें

नई दिल्ली ( 27 जनवरी ): सभी लोग अपने मोबाइल को सुरक्षित करने के लिए पैटर्न लॉक का उपयोग करते हैं। इतनी सुरक्षा के बावजूद लोगों मेल फोन हैक हो जा रहे हैं। लेकिन पैटर्न लाॅक की वजह से कोई भी असानी से किसी का फोन का उपयोग नहीं कर सकता। एक रिसर्च के मुताबिक 40 प्रतिशत लोग अपने स्मार्टफोन में पैटर्न लॉक का उपयोग करते हैं। अगर आप इस पैटर्न लॉक को सबसे सुरक्षित मानते हैं तो ऐसा है नहीं।

एक रिसर्च में दावा किया गया है कि कोई अटैकर आपके स्मार्टफोन के पैटर्न लॉक को पांच कोशिशों में आसानी से अनलॉक कर सकता है। इसके लिए उसे वीडियो और एल्गोरिदम सॉफ्टवेयर की जरूरत होगी। स्टडी के अनुसार, अटैकर किसी कैफे में कॉफी पीते हुए यूजर के पैटर्न लॉक का वीडियो बना सकता है। उदाहरण के लिए वो अपने फोन से खेलने का दिखावा करते हुए सॉफ्टवेयर की मदद से आपके स्मार्टफोन की स्क्रीन पर बने फिंगरप्रिंट्स को ट्रैक कर सकता है। कुछ ही सेकंड्स में यह सॉफ्टवेयर कुछ सिमित संख्या में पैटर्न लॉक्स का ऑप्शन देता है।

यह अटैक तब भी काम करता है कि जब वीडियो फुटेज में कोई भी ऑन स्क्रीन कंटेट नजर ना आए साथ ही स्क्रीन का साइज कुछ भी हो। दो या ढाई मीटर की दूरी से बनाए गए वीडियो से भी यह नतीजे सटिक साबित हाते हैं। यह तब भी काम करता है जब कोई वीडियो डीएसएलआर कैमरे से बनाई गई हो और दूरी 9 मीटर तक की हो। रिसचर्स ने आंका की हमलावर अलग-अलग यूजर्स से लिए 120 पैटर्न का उपयोग करते हैं और इसके चलते वो 95 प्रतिशत लॉक्स को पांच कोशिशों से पहले ही क्रैक कर लेते हैं।

यह भी दावा किया गया है कि पैटर्न जितना जटिल होगा उसे क्रैक करना उतना ही आसान होता है, क्योंकि एल्गोरिदम इसे ट्रैक कर संभावित पैटर्न की संख्या सिमित कर देता है और इसकी पहचान आसान हो जाती है। टेस्ट के दौरान रिसर्चर्स ने जटिल पैटर्न की एक कैटेगरी को पहली ही बार में क्रैक कर लिया वहीं मध्यम प्रकार के पैटर्न को क्रैक करने का प्रतिशत 87.5 रहा। रिसर्चर्स 60 प्रतिशत ही ऐसे लॉक्स को क्रैक कर पाए जो आसान थे।

रिसर्चर्स का मानना है कि इस तरह के अटैक्स चोरों को आपके फोन में घुसकर गुप्त प्रकार की जानकारियां चुराने में मदद कर सकते हैं। उन्होंने इससे बचने के लिए सलाह दी है कि पैटर्न ड्रॉ करते वक्त अपने फोन की स्क्रीन को कवर करके रखें या किसी और तरीके से फोन लॉक करें।