सोनिया ने फोन और राहुल ने चिट्ठी के जरिए लालू की महारैली को संबोधित किया

पटना (27 अगस्त): लालू यादव की 'बीजेपी हटाओ देश बचाओ' रैली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी शामिल नहीं हुए। कांग्रेस की ओर से पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और सीपी जोशी ने आरजेडी की इस रैली में हिस्सा लिया। इस रैली में कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी नहीं पहुंच सके हैं, लेकिन उन्होंने भी अपना संदेश पहुंचाया है। उनके संदेश को सबसे सामने पढ़ा गया। राहुल गांधी ने भी लोगों को अपने संदेश के माध्यम से संबोधित करते हुए भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा समाज का हर तबका, देश और बिहार सरकार का विरोधी है। 

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने फोन के जरिए पटना रैली को संबोधित किया। हालांकि, यह संदेश लाइव नहीं था, यह संदेश पहले से रिकॉर्डेड था। सोनिया गांधी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि ऐसा लगता है जैसे इस पार्टी का मकसद सिर्फ भ्रष्टाचार करना है। पिछले तीन सालों में मोदी सरकार लोगों को रोजगार देने में नाकामयाब रही, उल्टा नोटबंदी के बाद बहुत से लोगों को रोजगार छिन गया। समाज के उपेक्षित और कमजोर के प्रति सरकार का रवैया देखकर दुख होता है। अस्पतालों में बच्चों की मौतें हो रही हैं। जैसा इस सरकार के शासनकाल में हो रहा है, वैसा पहले कभी नहीं हुआ। आज यह तय करने का वक्त आ गया है कि हम इतिहास की किस धारा के साथ चलेंगे। क्या हम उस धारा के साथ चलेंगे जो अपनी मनमानी करती है? नहीं, हम उस रास्ते पर चलेंगे जो बापू ने हमें सिखाया है। उन्होंने कहा कि सत्ता में बैठे लोग जनता को बेवकूफ बना रहे हैं। बिहार में जनादेश का अपमान हुआ है। सभी इस समय मिलकर एक मजबूत मुट्ठी बन चुके हैं और जल्द ही यह एक बड़ी ताकत बनेगी।

आपको बता दें कि लालू की इस महारैली में जेडीयू के बागी नेता शरद यादव, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, कांग्रेस की ओर से गुलाम नबी आजाद और सीपी जोशी, सीपीआई की ओर से डी. राजा, जेएमएम की ओर से हेमंत सोरेन, जेवीएम अध्यक्ष बाबू लाल मरांडी, आरएलडी नेता जयंत चौधरी और एनसीपी के तारिक अनवर रैली में शामिल हुए हैं।