पठानकोट आतंकी हमले पर फ्रांस-अमेरिका भारत के साथ, पाक को कड़ा संदेश

ऩई दिल्ली (25 जनवरी): भारत के दौरे पर आए फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद और अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने वाशिंगटन से पाकिस्तान को आतंकवाद के मुद्दे पर सख्त संदेश दिए। विश्व की दो महाशक्तियों ने पठानकोट हमले के साजिशकर्ताओं पर जल्द कार्रवाई की भारत की मांग का समर्थन किया। ओबामा ने एक इंटरव्यू में पाकिस्तान से साफ शब्दों में कहा कि वह आतंकी नेटवर्कों पर कार्रवाई करे और आतंकवाद पर अपनी गंभीरता साबित करे। ओबामा ने पठानकोट हमले को भारत की ओर से लंबे समय से झेले जा रहे अक्षम्य आतंकवाद की एक मिसाल बताया।

ओबामा ने शरीफ सरकार से संपर्क साधने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी की सराहना की। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के तौर पर आखिरी साल में भारत से संबंधों को और प्रगाढ़ बनाना उनकी प्राथमिकताओं में से एक है। फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने भारत दौरे के पहले दिन कहा कि पठानकोट हमले में साजिशकर्ताओं को सजा देने की भारत की मांग जायज है। भारत और फ्रांस आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होकर लड़ेंगे। गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बनने वाले ओलांद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूसरे देशों से रिश्ते सुधारने की कूटनीति को भी सराहा।