पठानकोट हमलाः 'आतंकी फोन पर JEM के सरगाना मुहम्मद अज़हर के संपर्क में थे'

नई दिल्ली (23 फरवरी): पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के सलाहकार सरताज अजीज ने कुबूल किया है  कि पठानकोट एयरबेस पर हमला करने वालों ने हमले से पहले बहावलपुर में जैश-ए-मुहम्मद के मुख्यालय पर बात की थी।  उन्होंने यह कुबूल किया कि पाकिस्तानी एसआईटी की जांच में यह बात सामने आयी है कि भारत ने जो फोन नम्बर दिये हैं उनमें से एक नंबर जैश-ए-मोहम्मद ग्रुप के हेडक्वार्टर बहावलपुर का ही है।

पाकिस्तानी अखबार 'डॉन डॉट कॉम'में छपी खबर के अनुसार अजीज ने कहा है कि पठानकोट हमले में दर्ज की गई एफआईआर लॉजिकल और पॉजिटिव कदम है। उन्होंने कहा कि इससे दोषियों को सज़ा दिलाने में मदद मिलेगी। उन्होंने यह भी कहा कि यह सच है कि जैश-ए-मुहम्मद का सरगना मुहम्मद अज़हर 14 जनवरी से पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों की हिरासत में है।

अजीज ने एक भारतीय न्यूज चैनल से कहा कि अब भारत को फैसला करना है कि वह विदेश सचिव स्तर की बातचीत के लिए कब तारीख तय करता है। पठानकोट हमले के बाद भारत ने इस प्रस्तावित विदेश सचिव स्तर की बातचीत को स्थगित करने का फैसला किया था। अजीज ने कहा कि पाकिस्तान की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम मार्च महीने में पठानकोट जाएगी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान पठानकोट हमले की जांच पूरी गंभीरता के साथ रहा है। अजीज ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नवाज शरीफ अगले महीने वॉशिंगटन में होने वाले न्यूक्लियर समिट में अलग से मुलाकात करेंगे।