पठानकोट हमला: पाक जांच दल ने NIA के सामने रखीं ये मांगें

नई दिल्ली (28 मार्च): पंजाब के पठानकोट एयरबेस पर हुए आतंकी हमले के मामले में पाकिस्तान का संयुक्त जांच दल बड़ी सरगर्मी से बैठकों में लगा है। भारत में वो लगातार एनआईए के सामने अपनी मांगें रख रहा है।

सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान के संयुक्त जांच दल ने शक के घेरे में आए एसपी सलविंदर और परिवार का ब्योरा मांगा है। इसी के साथ पठानकोट एयरबेस के कमांडर से पूछताछ की इजाजत और आतंकियों की पोस्टमार्टम और डीएनए रिपोर्ट मांगी गई है। आतंकियों की तरफ से इस्तेमाल मोबाइल फोन, पठानकोट हमले के मामले में दर्ज तमाम एफआईआर की कॉपी, बॉर्डर से लेकर एयरबेस तक की सीसीटीवी फुटेज, विदेश मंत्रालय में अलर्ट, उसपर कार्रवाई से जुड़े दस्तावेज और पठानकोट बॉर्डर पर तैनात बीएसएफ अफसरों के बयान भी पाक के जांच दल ने मांगे हैं।

वैसे पाकिस्तान की कौन-कौन सी मांगें मानी जाएंगी ये एनआईए और सरकार को तय करना है। बीजेपी नेता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा है कि पठानकोट हमले को लेकर आज भी हमारे देश में आक्रोश है। पहली बार पाकिस्तान ने स्वीकार किया कि पठानकोट हमले में शामिल लोग पाकिस्तान के हैं। पाकिस्तान की जांच टीम के यहां आने से हमारा केस मजबूत होगा। कांग्रेस ये विलाप करना बंद करे। कंस्ट्रक्टिव विपक्ष की भूमिका निभाए।

आपको बता दें कि पठानकोट एयरबेस पर 2 जनवरी को पाकिस्तान से आए आतंकियों ने हमला कर दिया था। 80 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद सुरक्षाबलों ने सभी आतंकियों को मार गिराया था। इसमें हमारे 6 जवान शहीद भी हो गए थे। बहरहाल, बड़ा सवाल ये है कि कहीं ये जांच दल सिर्फ दिखावा ही न साबित हो, क्योंकि अभी तक पाकिस्तान ने भारत में हुए किसी भी हमले के मामले में तमाम सबूत सौंपे जाने के बावजूद कोई ठोस कार्रवाई नहीं की है।