Pathankot: आतंकियों ने इस वजह से एयरफोर्स स्टेशन को बनाया निशाना

नई दिल्ली(2 जनवरी): पंजाब के पठानकोट में आतंकियों ने एयरफोर्स स्टेशन पर हमला किया है। जानकारी के मुताबिक ये आतंकी सेना की वर्दी में आए थे। पूरे ऑपरेशन में दो जवान भी जवान भी शहीद हुए हैं।

आतंकियों ने जिस एयफोर्स के बेस पर हमला किया है वो रणनीतिक रूप से काफी अहम है। ये एयरफोर्स की पश्चिमी कमान में आता है। पठानकोट एयरफोर्स बेस में स्क्रॉडन नंबर तीन तैनात है। जिसे कोबरा भी कहा जाता है। इस बेस में कई आधुनिक विमान भी तैनात है।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

रिटायर्ड मेजर जनरल प्रफुल्ल बख्शी ने कहा कि आतंकी कभी भी टेक्निकल एरिया तक नहीं पहुंच सकते। हमारी सिस्टम में कमियां हैं। सिविल एडमिनिस्ट्रेशन को मिलिट्री इंटेलिजेंस के साथ मीटिंग करनी चाहिए थी। एसपी के किडनैपिंग के बाद पीएम और बाकी लोगों को वेकअप कॉल लेनी चाहिए थी। 1965 में भी इस इलाके में हमला हुआ था।

डिफेंस एक्सपर्ट सुशांत सरीन ने कहा कि मोदी जी ने एक बोल्ड स्टेप लिया और वह पाकिस्तान गए। आतंकी इससे बौखला गए हैं। वे अब अपनी मौजूदगी दर्ज कराने की कोशिश करेंगे, इसका शक तो पहले से था। और दोनों देशों की सरकारें भी इसे जानती थीं। इसे हालिया जासूसी केस से जोड़ना गलत होगा। बाहर के लोग तो जासूसी कर नहीं कर सकते, यह काम सेना के लोग ही कर सकते हैं। बहुत छोटे लेवल पर ही जासूसी की जा सकती है।