पठानकोट हमलाः पाकिस्तान के गुजरांवाला में एफआईआर दर्ज, मसूद अज़हर का नाम नहीं

नई दिल्ली (19 फरवरी): पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले में भारत के सुबूतों की जांच के बाद पाकिस्तान की स्पेशल इंवेस्टीगेशन टीम की सिफारिश के बाद ने चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। यह मुकदमा गुजरांवाला थाने में पाकिस्तान के आंतरिक उप मंत्री ऐतजाज़ उद्दीन की ओर से लिखवाई गयी है।

लेकिन इस एफआईआर में जैश-ए-मुहम्मद के मसूद अज़हर की जगह सिर्फ 'अटैकर्स बिलॉंग टू ए प्रोस्क्राइब्ड ऑरगेनाईजेशन' लिखा है।  इससे पाकिस्तानी ऑनलाइन अखबार 'द न्यूज़ डॉट कॉम डॉट पीके' ने लिखा था कि प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ अब जल्द ही फेडरल इंवेस्टिगेशन एजेंसी या काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट को पठानकोट हमले के मास्टर माइंट मसूद अज़हर और चार अन्यों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दे सकते हैं।

अखबार ने लिखा था कि 13 जनवरी 2016 को पाकिस्तान के आंतरिक मंत्रालय ने छह सदस्यों की एक हाई लेवल एसआईटी गठित की थी। जिसमें काउंटर टेररिज़्म विभाग के चीफ राय ताहिर भी शामिल थे। एसआईटी की अब तक हुई तीन बैठकों में भारत से मिले सुबूतों की जांच की गयी। जिनमें से कुछ सुबूत सही पाये जाने के बाद एफआईआर दर्ज करने की सिफारिश की गयी। हालांकि एसआईटी ने एभी तक जैश-ए-मुहम्मद  के चीफ मसूद अज़हर से पूछताछ नहीं की है। अखबार ने यह दावा भी किया है कि एफआईआर दर्ज करने की सिफरिश करने वाले दस्तावेज उसके पास मौजूद हैं।