जज़्बे को सलाम: नहर में डूबते शख्स को बचाने के लिए खोल दी अपनी पगड़ी

नई दिल्ली (15 अप्रैल): मानवता के लिए एक सिख शख्स ने एक अलग मिसाल पेश की है। लुधियाना के निवासी सतनाम सिंह ने एक नहर में डूबने व्यक्ति को बचाने के लिए साहस का अद्भुत प्रदर्शन किया। इस शख्स ने तुरंत अपनी पगड़ी खोलकर डूबते व्यक्ति को सुरक्षित बचा लिया।

'द ट्रिब्यून' की रिपोर्ट के मुताबिक, सतीश कुमार, उनकी पत्नी और बेटा वेरखा पुल के पास सिद्धवन नहर में अष्टमी के मौके पर गुरुवार को प्रार्थना कर रहे थे। तभी वह फिसलकर नहर में गिर गए। पानी का बहाव इतना ज्यादा था कि वह बाहर नहीं निकल पाए और डूबने लगे। उनका परिवार जोर जोर से चिल्लाकर मदद के लिए पुकारने लगा। लेकिन लोग वहां केवल खड़े हुए एक दूसरे का मुंह देखते रहे। कोई भी उनकी मदद करने के लिए आगे नहीं आया।

सतनाम सिंह और उनकी पत्नी उस वक्त पास के ही स्टोर से दवाइयां लेने आए थे। लेकिन पीड़ित की पत्नी की आवाज सुनकर मदद के लिए रुक गए। 55 वर्षीय सतनाम ने तुरंत ही अपनी पगड़ी खोली और इसे सतीश को पकड़ने के लिए फेंकी। इसके बाद उन्होंने नहर से उन्हें खींच लिया। सतीश को तुरंत ही पास के अस्पताल ले जाया गया। बाद में उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद वापस भेज दिया गया।