VIDEO: पार्थिव पटेल का बड़ा बयान, बोले- 'हमारी वजह से कामयाब क्रिकेटर बने धोनी'

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 जून):  टीम इंडिया के दिग्गज क्रिकेटर महेंद्र सिंह धौनी को लेकर कई विकेटकीपर बल्लेबाज काफी कुछ बोल चुके हैं। हाल ही में दिनेश कार्तिक ने कहा था कि धौनी के चक्कर में एक बार उन्होंने सोच लिया था कि वो क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे या फिर विकेटकीपिंग ही छोड़ देंगे। 

धोनी बल्लेबाजी के साथ-साथ अपनी विकेटकीपिंग के लिए भी जाने जाते हैं। साल 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ अपना डेब्यू करने वाले धोनी के लिए अपनी जगह को बचाए रखना कतई आसान नहीं था। भारतीय टीम में दिनेश कार्तिक, पार्थिव पटेल और नमन ओझा जैसे विकेटकीपर लंबे समय से टीम में आने का इंतजार कर रहे थे।

राहुल द्रविड़ के बाद दिनेश कार्तिक और पार्थिव पटेल को कुछ मैचों के दौरान खेलने का मौका मिला, लेकिन इस दौरान वह कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए। वहीं पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए वनडे सीरीज में महेंद्र सिंह धोनी रातोंरात सुपर स्टार बन गए। धोनी ने ना सिर्फ अपने बल्ले से बल्कि विकेटकीपिंग से भी दिग्गजों को खासा प्रभावित किया। एक इंटरव्यू के दौरान पार्थिव पटेल ने धोनी की सफलता के पीछे का राज खोलते हुए कहा कि धोनी हमारी वजह से कामयाब क्रिकेटर बनने में सफल रहे। दरअसल, जब पार्थिव से पूछा गया कि क्या आप गलत दौर में पैदा हो गए??

इस पर पार्थिव ने जवाब दिया कि नहीं, 'मुझे ऐसा नहीं लगता है। ज्यादातर लोग ऐसा बोलते हैं, लेकिन मैं इसको इस तरह से देखता हूं कि अगर हम लोग खराब नहीं खेलते तो धोनी को टीम इंडिया में मौका नहीं मिलता।'

पार्थिव ने कहा, 'हमारे टीम से बाहर होने के लिए धोनी नहीं हम खुद जिम्मेदार हैं। हमने अगर मिले मौकों को भुनाया होता तो आज धोनी टीम इंडिया में शायद ही होते।'

इस इंटरव्यू में पार्थिव ने अपने संघर्षों के बारे में बताया जिनके बाद वो आज इस मुकाम तक पहुंचे हैं और अपनी पहचान बनाई। पढ़ाई के दिनों में 12-13 किमी तक बैग टांगकर साइकिल से स्कूल जाना और साइकिल के पीछे उनका किट बैग भी होता था। स्कूल की पढ़ाई से समय बचने के बाद क्रिकेट पर फोकस करना होता था।