राज्यसभा में उत्तराखंड पर चर्चा को लेकर हंगामा, धरने पर बैठे कांग्रेस सांसद

नई दिल्ली(25 अप्रैल): संसद के बजट सत्र का दूसरा फेज सोमवार को शुरू हो गया। राज्यसभा में नए सांसदों के शपथ के बाद हंगामा शुरू हो गया। कांग्रेस ने कहा कि सरकार ने उत्तराखंड में प्रेसिडेंट रूल लगाने के लिए नियमों को ताक पर रख दिया। वहीं बीजेपी का कहना है कि मामला कोर्ट में है। इस बीच हंगामे के बाद राज्यसभा को दोपहर तक स्थगित कर दिया गया। 

गुमाम नबी आजाद ने क्या कहा...

- उत्तराखंड में प्रेसिडेंट रूल लगा है। इस पर चर्चा होकर रहेगी।

- 'जो सरकार कोर्ट के ऑर्डर का सम्मान नहीं करती, उसका कैसे विश्वास करें?'

- 'देश में लोकतंत्र का अपमान हुआ है।'

- अपोजिशन ने राज्यसभा में 'मोदी की तानाशाही नहीं चलेगी' के नारे लगाए।

 पीएम मोदी ने क्या कहा...

- मोदी ने कहा कि मैं सभी दलों से सपोर्ट की उम्मीद करता हूं। सेशन में अच्छे फैसले लिए जाएंगे।

- मोदी ने ये भी कहा, 'सेशन को बढ़ाया जा सकता है।'

 राज्यसभा के सभापति हामिद अंसारी से उत्तराखंड में सरकार को अस्थिर करने और वहां प्रेसिडेंट रूल लागू करने के लिए मोदी सरकार की निंदा करने वाला प्रस्ताव पारित कराने का भी आग्रह किया है। प्रस्ताव में कहा गया है, 'यह सदन उत्तराखंड में लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित सरकार को अस्थिर करने की आलोचना करता है और संविधान के अनुच्छेद 356 के तहत वहां अनुचित रूप से राष्ट्रपति शासन लगाए जाने को अस्वीकार करता है।' 

अरुणाचल प्रदेश के मामले में भी कांग्रेस का यही रुख है। पार्टी को उम्मीद है कि इस पर बड़ी संख्या में विपक्षी पार्टियां उसका सपोर्ट करेंगी।