भारत के इस जेम्स बॉन्ड ने की थी सर्जिकल स्ट्राइक की प्लानिंग...

नई दिल्ली (29 सितंबर): पहली बार भारतीय सेना ने LoC पार कर PoK में सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया। लेकिन इस प्लानिंग के पीछे सबसे बड़ा हाथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल का बताया जा रहा है।

सूत्रों ने बताया, ''डोभाल ने इंडियन इंटेलिजेंस एजेंसियों से मिले इनपुट आर्मी के साथ शेयर किए थे। बुधवार रात पूरे ऑपरेशन की रणनीति बनाकर पैरा कमांडो एलओसी के पार उतारे गए। एलओसी के पार 7 आतंकी ठिकानों पर कार्रवाई कर 38 आतंकियों को मार गिराया गया। इस पूरे ऑपरेशन को डोभाल ने दिल्ली से लीड किया।''

म्यांमार स्ट्राइक में भी था डोभाल का रोल... - 4 जून, 2015 को मणिपुर के चंदेल जिले में उग्रवादियों ने हमला कर सेना के 18 जवानों की जान ली थी। - इसके बाद ऑपरेशन की प्‍लानिंग के लिए डोभाल ने 6 जून को प्रधानमंत्री के साथ बांग्‍लादेश जाने का प्रोग्राम टाल दिया था। - हमले के बाद डोभाल कुछ दिन से मणिपुर में ही थे। यहां वे इंटेलिजेंस से मिले इन्पुट्स पर नजर रख रहे थे। - आर्मी को पता चला था कि उग्रवादी म्यांमार सीमा में छिप गए थे। म्यांमार सीमा में पैराकमांडो घुसे और उग्रवादियों के दो कैंप तबाह कर करीब 100 उग्रवादी को मारा गया।

कौन हैं डोभाल? - 1968 के केरल बैच के आईपीएस अफसर अजीत डोभाल 6 साल पाकिस्तान में अंडरकवर एजेंट रहे हैं। - वे पाकिस्तान में बोली जाने वाली उर्दू समेत कई देशों की भाषाएं जानते हैं। - एनएसए बनने के बाद वे सभी खुफिया एजेंसियों के प्रमुखों से दिन में 10 से ज्यादा बार बात करते हैं।