पंकजा मुंडे पहुंची सिंगापुर, बताया यह कारण

विनोद जगदाले, मुंबई 11 (जुलाई): ऐसा कहा जा रहा था कि सीएम फडणवीस द्वारा अपने मंत्रिमंडल के पुनर्गठन के वक़्त जल संसाधन मंत्रालय छीनने के बाद पंकजा मुंडे नाराज़ हो गयी है। हालांकि विश्व जल परिषद के शिखर सम्मेलन के संदर्भ और हस्तांतरण पर पंकजा मुंडे ने फेसबुक पर अपनी भूमिका स्पष्ट कर दी है।

पंकजा मुंडे ने फेसबुक पर लिखा, ''मेरा विनम्र अनुरोध है कि कोई भी जो मुझसे प्रेम करता है, ऐसी बात न करे मुझे अच्छी ना लगे। किसी भी व्यक्ति का अपमान हो ऐसा कार्य मत करे। कानून और व्यवस्था बनाए रखिये। मैं आज इंडोनेशिया होकर सिंगापुर पहुंचूंगी। देश के बाहर होने पर मैंने ट्वीट किया। यहां वर्ल्ड वाटर लीटर समिट के लिए मुझे आमंत्रण दिया गया था। हाल ही में हुए बदलाव में मुझे जलसंसाधन मंत्री न होने पर वहा जाना थोड़ा अयोग्य लग रहा था। मेरे जिले के लोग और पत्रकार मेरी बातों और मेरे फोटो को अपेक्षित समझेंगे, इसलिए मैंने न जाने का फैसला ट्वीट कर बताया।''

मुझे सिंगापुर से निमंत्रण था इसलिए मैं आई थी: सभी नए मंत्रियों को बधाई देती हूं। मेरे नज़दीकी राम शिंदे और जयकुमार रावल को मेरे खातों में जगह दिया गया है, इसकी मुझे ख़ुशी है। इन दोनों को मैंने ट्वीट कर बधाई दी है। जलयुक्त उपनगरों में ऊंचाइयों पर है और उसका मिशन समझकर ना की पेशन समझ स्वीकार करेंगे, ऐसा स्टेटमेंट देकर उन्होंने विश्वास दिलाया है। उन्हें ये पदवी मिली, इसमें खुश होना चाहिए नाराज़ नहीं। दोनों को शुभेक्षा। उनका मनोबल बड़े ऐसे काम करना चाहिए और वो मैं करुंगी।