पंचायत का शर्मनाक फरमान, 90 हजार में बेच दी अस्मत

लखनऊ (16 फरवरी): यह सिर्फ हमारे ही देश में हो सकता हैं, भले ही कोई कितना भी कहे लेकिन यह सौ फीसदी सच है कि हमारे देश में महिलाएं सुरक्षित नहीं है। मुजफ्फरनगर के एक गांव में पड़ोसी ने ही पांच साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म किया और फरार हो गया। इसके बाद दोनों पक्षों ने बैठक करके 90 हजार रुपये में मामला निपटा दिया।

क्या था पूरा मामला? पड़ोसी के घर सात व पांच वर्षीय दो सगी बहनों समेत तीन बच्चे खेल रहे थे, जब पड़ोस में रहने वाला युवक आया और उसने बच्चों को पैसे देकर दुकान पर भेज दिया। कुछ देर बाद जब उक्त दोनों बच्चे लौटे तो पांच वर्षीय बच्ची खून से लथपथ थी। उसकी सात वर्षीय बड़ी बहन ने इसकी सूचना परिजनों को दी। परिजन उसे चिकित्सक यहां ले गए जहां उसके साथ दुष्कर्म होने की पुष्टि हुई।

90 हजार में मान गए परिजन बाद में जब परिजनों ने आरोपी को दबोच लिया तो उसकी जमकर पिटाई की। लेकिन जब कार्रवाई की बात आई तो गांव के कुछ लोगों ने मिल-बैठकर मामले को निपटाने की सलाह दी। कई घंटे तक चली पंचायत ने बच्ची की अस्मत का सौदा 90 हजार रुपये में कर डाला। हैरत की बात यह है कि पंचायत के इस फैसले से बच्ची के परिजन भी तथाकथित रूप से सहमत हो गए।