रैना के ससुराल में पंचायत का अनोखा फरमान- एक ही गोत्र में शादी की तो...

नई दिल्ली (30 जून): बागपत की पंचायत ने एक बार फिर बेतुका फरमान जारी किया है। पंचायत ने ऐलान किया है कि वो एक गोत्र में शादी करने वालों को सौ जूते मारेंगे। यही नहीं उन्हें गांव में भी नहीं घुसने दिया जाएगा।

बागपत के बामनौली गांव की इस पंचायत के फैसले पर आपको आश्चर्य हो रहा होगा। लेकिन आप तब और भी हैरत में पड़ जाएंगे, जब आप इनके मुताबिक सगोत्रीय विवाह के कारणों को जानेंगे। इस पंचायत के माननीय सदस्यों की मानें तो सगोत्रीय विवाह का सबसे बड़ा कारण है मोबाइल, जो लड़कियों को बिगाड़ रहा है।

दुनिया में भले ही अठारह साल की उम्र समझदार होने की हो, लेकिन ये पंचायत मानती है कि इस उम्र में नौजवानों में अपना भलाबुरा सोचने की क्षमता नहीं होती। यही वजह है कि मोबाइल उन्हें बिगाड़ देता है।

बागपत का बामनौली गांव पिछली बार तब सुर्खियों में आया था जब इस गांव से क्रिकेटर सुरेश रैना का नाम जुड़ा था। इसी गांव मे पली-बढ़ी प्रियंका सुरेश रैना की पत्नी बनीं। लेकिन अब पंचायत के इस फैसले को सुनकर शायद दोनों को हैरानी हो।