1 जुलाई तक नहीं किया ये काम तो नहीं भर सकेंगे इनकम टैक्स

नई दिल्ली (26 अप्रैल): अगर आप इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करते हैं और आपने अभी तक पैन कार्ड को आधार नंबर से लिंक नहीं किया है तो यह खबर जानना आपके लिए बेहद जरूरी है। केंद्र सरकार ने 1 जुलाई 2017 तक तक इसे अनिवार्य कर दिया है। ऐसे नहीं करने पर आपके पैन नंबर को रिजेक्ट किया जा सकता है।


दूसरी ओर सरकार ने टैक्स रिटर्न भरने के लिए पैनकार्ड और आधार नंबर को अनिवार्य कर रखा है। इसका मतलब साफ है कि पैन को आधार से लिंग नहीं कराया तो मौजूदा वित्त वर्ष में इनकम टैक्स रिटर्न नहीं भर सकेंगे। सरकार के निर्देश के बाद उन लोगों को परेशानी होगी जिनके नाम की स्पेलिंग पेन कार्ड और आधार कार्ड में अलग-अलग है।


पैन कार्ड, आधार कार्ड और बैंक अकाउंट में दी गई आपकी डीटेल अलग हैं तो आप अपने पैन कार्ड अथवा आधार कार्ड में बदलाव के लिए आवेदन कर सकते हैं। पैन कार्ड में सुधार के लिए आवेदन इनकम टैक्स डिपार्टेमेंट की वेबसाइट पर कर सकते हैं। दूसरी ओर आधार में सुधार करवाने के लिए आधार केंद्र पर जा सकते हैं या ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं।


सरकार ने टैक्स चोरी को रोकने के लिए यह कदम उठाया है। मौजूदा समय में देश में 24.37 करोड़ से अधिक पैन कार्ड हैं और 113 करोड़ से ज्यादा लोगों का आधार कार्ड बनाया जा चुका है। इनमें से महज 2.87 करोड़ लोगों ने 2012-13 के दौरान टैक्स रिटर्न जमा किया था। इन 2.87 करोड़ लोगों में 1.62 करोड़ लोगों ने टैक्स रिटर्न दाखिल तो किया लेकिन टैक्स में एक भी रुपये का भुगतान नहीं किया।