दाऊद लाइफ इन पाकिस्तान : पार्टी, पूल एंड प्रॉस्टीट्यूट्स

नई दिल्ली (26 अप्रैल) :  अगर दुनिया के मोस्ट वांटेड आतंकियों की बात की जाए तो आईएस के अबू बकर अल बगदादी और अल क़ायदा के अयमन अल जवाहिरी के साथ दाऊद इब्राहिम कसकर का भी नाम लिया जाता है।दाऊद का नाम कई बार फोर्ब्स की दुनिया के सबसे पावरफुल लोगों की सूची में भी आ चुका है। ये अपने आप में ही सबूत है कि पाकिस्तान के सत्ता प्रतिष्ठानों के साथ दाऊद की कितनी नज़दीकी है। यही माना जाता है कि 1993 मुंबई ब्लास्ट का मास्टरमाइंड दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में सभी सुख सुविधाओं के साथ रहता आ रहा है।

आरोपों के मुताबिक पाकिस्तान की खुफ़िया एजेंसी आईएसआई के साथ मिलकर दाऊद ने 1993 में मुंबई ब्लास्ट को अंजाम दिया था। इन धमाकों में 257 लोग मारे गए थे और सैकड़ों घायल हुए थे। इसके बदले में दाऊद को पाकिस्तान में स्थायी ठिकाना मिल गया, साथ ही दुनियाभर में अंडरवर्ल्ड नेटवर्क चलाने की खुली छूट भी।  

पाकिस्तान में दाऊद की मौजूदगी के बारे में हर कोई जानता है लेकिन पाकिस्तान अधिकृत तौर पर इसे कभी स्वीकार नहीं करता। कुछ पत्रकारों ने दाऊद से मिलने का दावा भी किया है लेकिन कभी इन मुलाकातों के बारे में कुछ नहीं लिखा।

'न्यूज़ 18' के मुताबिक पाकिस्तान में दाऊद की ज़िंदगी के बारे में आखिरी बार 2001 में मैगजीन न्यूज़ लाइन में रिपोर्ट प्रकाशित हुई थी। ये रिपोर्ट लिखने वाले पत्रकार गुलाम हसनैन को आईएसआई और पाकिस्तानी सेना ने बाद में उत्पीड़ित किया था। दरअसल इस रिपोर्ट से दाऊद के इस्लामाबाद लिंक उजागर हो गए थे। बाद में इस मैगजीन की वेबसाइट से उस रिपोर्ट को भी हटवा दिया गया था।  

हसनैन की रिपोर्ट के मुताबिक उस वक्त 46 साल का दाऊद पाकिस्तान में 6000 वर्ग गज में फैले महलनुमा अपने घर में किसी राजा की तरह ज़िंदगी बिता रहा था। इस घर में स्विमिंग पूल, टेनिस कोर्ट, स्नूकर रूम, हाईटेक जिम जैसी सभी सुविधाएं थीं। डिजाइनर कपड़े पहनने के शौकीन दाऊद की कारों के बेड़ों में मर्सिडीज़ समेत एक से बढ़ कर एक महंगी कारे थीं।   

रिपोर्ट में शराब के शौकीन दाऊद को सेक्स वर्कर्स पर भी खुल कर पैसा लुटाने वाला बताया गया था। बताते हैं कि अपनी पसंद की एक फैशन मॉडल को दाऊद ने आलीशान मकान और कार तोहफे में दी थी। हसनैन की रिपोर्ट में दाऊद की बॉलिवुड की एक पूर्व एक्ट्रेस से नज़दीकी का भी ज़िक्र किया गया था।

हसनैन ने रिपोर्ट में दाऊद का रोज़ाना का रूटीन इस प्रकार बताया था। दोपहर को उठना, फिर तैरना और शॉवर लेना, ब्रेकफास्ट के बाद अपने गुर्गों से मिलना और डी कंपनी के लिए निर्देश देना। सूरज डूबने के बाद दाऊद के सुरक्षित ठिकानों पर पार्टियों का दौर शुरू हो जाता है। इन पार्टियों में मुजरे के साथ जुआ खेला जाता था।

दाऊद की काली कमाई में क्रिकेट में मैच फिक्सिंग के करोड़ों डॉलर भी शामिल थे। दाऊद के यहां हाजिरी लगाने वालों में पाकिस्तान के टॉप राजनीतिक नेता, क्रिकेटर्स शामिल रहते थे। कहा तो ये भी जाता है कि पाकिस्तान सेंट्रल बैंक को भी मुश्किल से निकालने में एक बार दाऊद ने मदद की थी।   

।