पाकिस्तान में चूहों का आतंक, मारने पर नकद ईनाम का ऐलान

नई दिल्ली (1 अप्रैल): पाकिस्तान का एक शहर है पेशावर। सरकार ने चूहा मार कर लाने पर ईनाम का ऐलान किया है। पेशावर में चूहों की बढ़ती आबादी, आम लोगों आबादी पर भारी पड़ती जा रही है। चूहों की आबादी न केवल बढ़ रही है बल्कि उनका लम्बाई चौड़ाई सामान्य से काफी ज्यादा बडी़ होती जा रही है। ये चूहे गांवों में जहां फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं वहीं शहरों में रखे खाद्यान्न को भी चट कर रहे हैं।

मामला यहीं तक रहता तो गनीमत रहती, जब इन चूहों को खाने के लिए कुछ नहीं मिलता तो ये आदमियों पर हमला कर देते हैं। भूखे चूहे ख़ास तौर पर बच्चों निशाना बना रहे हैं। ऐसे ही एक चूहे के काटने से पेशावर एक बच्चे की मौत भी हो गयी। चूहों से परेशान लोगों की आवाज़ पेशावर असैंबली में उठायी गयी। जब कहीं जाकर सरकार ने ऐलान किया कि जो भी आदमी चूहा मार कर लायेगा उसको पच्चीस रुपये ईनाम दिये जायेंगे।

मरे हुए चूहे जमा करने के लिए अकेले पेशावर में चार सेंटर बनाये गये हैं। बताया जाता है कि चूहों के आतंक पर सरकार ने ये कदम इतनी आसानी से नहीं उठाया। जब मामला हाईकोर्ट पहुंचा और कोर्ट ने फटकार लगायी जब कहीं जाकर सरकार ने चूहों को मारने के लिए घर-घर चूहे मार दबा पहुंचाने और चूहों को मार कर लाने पर ईनाम का ऐलान किया है।