पाकिस्तान ने बुरहान वानी का किया गुणगान, भारत ने दिया करारा जवाब

दिल्ली (9 जुलाई): आतकंवादियों और बुरहान वानी का समर्थन करने वाले पाकिस्तान को भारत ने करारा जवाब दिया है। भारत ने रविवार को कहा कि आतंकवाद को समर्थन और उसे स्पॉन्सर करने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय को एक सुर में पाकिस्तान की निंदा करनी चाहिए।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने रविवार को ट्वीट कर कहा, 'पहले, पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा की लिखी बात पढ़ते हैं। अब पाकिस्तान के सीओएएस बुरहानी वानी का गुणगान कर रहे हैं। आतंकवाद को समर्थन और उसे स्पॉन्सर करने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय को मिलकर पाकिस्तान की निंदा करनी चाहिए।'

दरअसल, बागले पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट का जवाब दे रहे थे, जिसमें सेना चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा ने कथित रूप से 8 जुलाई को हिज्बुल आतंकी बुरहान वानी की प्रशंसा की थी। बता दें कि एक साल पहले इसी दिन भारतीय सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में बुरहान मारा गया था।

गफूर ने बाजवा के हवाले से शनिवार को ट्वीट किया, 'कश्मीरियों को खुद फैसला लेने का अधिकार है। भारत के अत्याचार के खिलाफ बुरहान वानी और पीढ़ियों का बलिदान उनके संकल्प का उदाहरण है।' पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भी शनिवार को बुरहान को श्रद्धांजलि दी थी और कहा था कि उसकी मौत ने कश्मीरियों के खुद के निर्णय लेने के आंदोलन में और अधिक जोश पैदा किया है।

शरीफ ने कहा, 'बुरहान के शरीर से निकले खून ने आजादी के आंदोलन में और जोश भर दिया है। कश्मीरी जनता अपने आंदोलन को तर्कपूर्ण समाधान की तरफ तेजी से ले जा रहे हैं।' इससे पहले, पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने भी हिज्बुल मुजाहिदीन चीफ सैयद सलाहुद्दीन का बचाव किया था और कहा था कि उसे अमेरिका द्वारा वैश्विक आतंकी करार देना पूरी तरह से अन्याय है।