इस पाकिस्तानी को चाहिए भारत का दिल

नई दिल्ली (29 सितंबर): उरी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव है। लेकिन पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के 24 वर्षीय युवक मोहम्मद नासिर को जान बचाने के लिए एक भारतीय दिल और फेफड़ों की तलाश है, जिसके लिए वह मुंबई आया है।

मोहम्मद नासिर अंधेरी के एक अस्पताल में भर्ती है। नासिर के दिल में छेद है और जिंदा रहने के लिए उसे एक दिल की जरूरत है। इसके अलावा उसके फेफड़ों को भी बदलने की जरूरत है। राज्य में ऑगर्न का डेटाबेस रखने वाली जोनल ट्रांसप्लांट कोऑर्डिनेशन कमिटी (ZTCC)के लिए बड़ी विचित्र स्थिति बन गई है, क्योंकि उनकी लिस्ट में इससे पहले कोई भी विदेशी मरीज नहीं था।

मोहम्मद नासिर अपने माता-पिता के साथ दो महीने पहले होमटाउन लाहौर से सीधे मुंबई आया है। दो दिन पहले ही उसके माता-पिता ने हाजी अली दरगाह पर अपने बेटे के लिए जल्दी से ऑगर्न मिले की दुआ मांगी थी। ZTCC के नियम के अनुसार सबसे पहले भारतीय मरीजों को ऑगर्न उपलब्ध कराने के प्रयास किया जाता है, इसके बाद अगर किसी का ऑगर्न मिलता है तो उसे मोहम्मद नासिर को दिया जाएगा। इस मुश्किल के बावजूद नासिर के माता-पिता उनके बेटे को ऑगर्न मिलने तक भारत में ही रहने का फैसला किया है।

गौरतलब है कि मोहम्मद नासिर के हॉर्ट चेंबर में छेद है जिसके कारण उसके फेफड़े पर काफी दबाव पड़ रहा है। मोहम्मद नासिर का फेफड़ा पूरी तरह खराब हो चुका है। ट्रांसप्लांट प्रक्रिया में करीब 52 लाख रुपये खर्च होने की उम्मीद है। पाकिस्तानी सरकार नासिर के लिए ये राशि मंजूर कर चुकी है। आपको बता दें कि पाकिस्तान में हॉर्ट ट्रांसप्लांट की सुविधा नहीं है।