गीदड़ पाक ने महिलाओं को किया आगे, आत्मघाती हमलावर बनाकर भेजा


नई दिल्ली (16 जून): आतंकियों के खिलाफ भारतीय सेना ने बड़े पैमाने पर ऑपरेशन चला रखा है। इससे हताश पाकिस्तान अब महिलाओं को हथियार बनाकर भारत में किसी बड़े हमले की फिराक में लगा हुआ है। खुफिया एजेंसियों को खबर मिली है कि पाकिस्तान ने कुछ महिला आत्मघाती हमलावरों का दस्ता भारत में घुसा दिया है और अब वह इनसे हमला करने की फिराक में हैं।


खबर के अनुसार, ये महिला आत्मघाती हमलावर आतंकी संगठन जमात-उद-दावा और जैश-ए-मोहम्मद से ताल्लुक रखती हैं। इन्हें पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने न केवल खुद चुना है, बल्कि खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के कैंपों में ट्रेनिंग दी है।


इंटेलिजेंस इनपुट्स के मुताबिक, इनकी तादाद कम से कम 7 से 8 है और इनमें से कई बीते एक या दो महीने में भारतीय सीमा में दाखिल हो चुकी हैं। मुंबई पर हुए 26/11 के हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद का बेटा तल्हा सईद इस ऑपरेशन का कमांडर है। ये महिला हमलावर ऑयल रिफाइनरी, न्यूक्लियर रिऐक्टर्स, मेट्रो ट्रेन, आयुध भंडारों, सैन्य और अर्धसैनिक बलों के ठिकानों, धार्मिक स्थलों और दूतावासों को निशाना बना सकती हैं।


इस खतरे के बारे में दिल्ली, मुंबई, पंजाब, बिहार और दक्षिण भारत के कुछ राज्यों की ऐंटी टेरर यूनिट को मौखिक तौर पर जानकारी दी गई है। ये महिला हमलावर पश्चिमी लिबास में भी हो सकती हैं। इन्हें अधिकारियों को हनीट्रैप में फंसाने की ट्रेनिंग मिली हुई है, ताकि ये महत्वपूर्ण इमारतों में दाखिल हो सकें।