ओलंपिक में पाकिस्तान की महिला तैराक

नई दिल्ली (9 अगस्त): इस बार रियो ओलंपिक में पाकिस्तान की ओर से सात एथलीट्स का दल शामिल हुआ है। पाक ओलंपिक दल की खास बात ये है कि इन सभी खिलाड़ियों को वाइल्डकार्ड एंट्री मिली है।

दरअसल रियो में पाकिस्तान का कोई भी एथलीट क्वालिफाई नहीं कर पाया। जिसके बाद उन्हें वाइल्ड कार्ड के जरिए ओलंपिक में एंट्री दी गई। हालांकि इन सभी के पदक जीतने की कोई संभावना नहीं है।

लिएना स्वेन (स्विमर) - 19 साल की लिएना स्वान एक पाकिस्तानी स्वीमर हैं। जो 50 मीटर फ्रीस्टाइल स्वीमिंग इवेंट में हिस्सा लेंगी। - वे अपने देश के लिए 2016 के साउथ एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं। - लिएना इंग्लैंड के लफबोरफ कॉलेज से पढ़ाई कर रही हैं। उनके नाम पर पाकिस्तान में 7 नेशनल रिकॉर्ड हैं। - लिएना का जन्म बहरीन में हुआ। उनके पिता ब्रिटिश हैं जबकि मां पाकिस्तानी हैं। - उन्हें करियर शुरू करने से पहले उन्हें इस बात को चुनने की आजादी दी गई थी वे किस देश को रिप्रेजेंट करेंगी।

एथलीट से ज्यादा हैं ऑफिशियल्स... - पाकिस्तानी ओलंपिक दल में एथलीट कम और ऑफिशियल्स ज्यादा है। पाक दल में 7 एथलीट के अलावा 11 ऑफिशियल्स भी हैं। - रियो गए पाकिस्तानी दल में 4 पुरूष और 3 महिला एथलीट्स शामिल हैं। - पाकिस्तान ने ओलंपिक का आखिरी मेडल 1992 में हुए बार्सिलोना ओलंपिक में जीता था। तब हॉकी टीम को ब्रोंज मेडल मिला था। - पिछले 14 सालों से पाकिस्तान ओलंपिक में मेडल्स का सूखा झेल रहा है। जिसके इस बार भी जारी रहने की उम्मीद है। - 1948 के लंदन ओलंपिक्स के बाद ये पहला मौका है जब पाकिस्तानी हॉकी टीम ओलंपिक गेम्स के लिए क्वालिफाई नहीं कर पाई।