जकात के पैसे से कश्मीर में आतंक को भड़का रहे हैं पाकिस्तानी दहशतगर्द

नई दिल्ली (7 मार्च):  एनआईए के एक अधिकारी ने कहा है कि पाकिस्तान आधारित आतंकी संगठन अपने चैरिटी संगठनों के जरिये करोड़ों रुपये का चंदा जुटा कर जम्मू कश्मीर में आतंकवाद को धन मुहैया करते हैं। उन्होंने इस बात का जिक्र 19 वें एशियाई सुरक्षा सम्मेलन में कहा। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के अधिकारी ने कहा कि आतंकी संगठन जमात उद दावा (जेयूडी) और लश्कर ए तैयबा (एलईटी) द्वारा संचालित फलह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) कश्मीर में आतंकवाद का समर्थन कर रहा है और कोष मुहैया कर रहा है। 

वहीं जैश ए मोहम्मद (जेईएम) द्वारा समर्थित अल रहमत ट्रस्ट (एआईटी) भी इसी तरह के काम में लिप्त है। एनआईए जेयूडी-एलईटी और जेईएम की गतिविधियों तथा पड़ोसी देश में उससे संबद्ध ट्रस्टों के कामकाज पर भी गौर कर रहा है। उन्होंने कहा कि ये संगठन पाकिस्तान के लोगों से चंदा जुटाते हैं और फिर उसे अपने जमीनी कार्यकर्ताओं के मार्फत कश्मीर में आतंकवाद को धन मुहैया करते हैं।  पाकिस्तान में तेजी से बढ़ते एनजीओ भी लोगों से धन जुटाता है। उसका इस्तेमाल आतंकवादियों को मुहैया करने में करता है। एनआईए के अधिकारी ने दावा किया कि उन के पास एक वीडियो है जिसमें दो लोगों को कराची में एक मस्जिद के बाहर पाकिस्तान रेंजर्स की मौजूदगी में लोगों से धन एकत्र करते देखा जा सकता है।