61 साल पहले आया पाकिस्तानी गिरफ्तार, दुकान-मकान और राशन कार्ड भी ले लिया था

नई दिल्ली (11 जनवरी): एक पाकिस्तानी नागरिक ने भारत में दुकान-मकान बनवा लिए , राशनकार्ड भी बनवा लिया, वो भारतीय नागरिको को मिलने वाली सभी सुविधाओँ का भोग कर रहा था।  61 साल से यहां रह रहे पाकिस्तानी नागरिक को गाजियाबाद की पुलिस मसूरी गांव ने गिरफ्तार किया है।उसने दीर्घकालीन वीजा पर रहते हुए मकान खरीदने के साथ वोटर लिस्ट में नाम दर्ज करा लिया था। आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी समेत विदेशी अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर जेल भेज दिया गया है।

पुलिस के मुताबिक पकड़ा गया आरोपी वार्ड 14 कांजीवाड़ा डासना का रहने वाला मोहम्मद यूनुस (70) पुत्र नवाब खान है। वह मूलरूप से पाकिस्तान स्थित करांची के गांव कादराबाद का रहने वाला है। यहां वह दो बेटों अली और अमन के साथ रहता है, जबकि दो बेटियों की शादी हो चुकी है। वह यहां मजदूरी करता है। उन्होंने बताया कि 1956 में यूनुस माता पिता के साथ यहां दीर्घकालीन वीजा पर आया था।

61 साल से वह लगातार वीजा का नवीनीकरण करा रहा था और यहां रह रहा था। नियम है कि दीर्घकालीन वीजा पर रहने वाला व्यक्ति न तो कोई प्रॉपर्टी खरीद सकता और न ही यहां कोई ऐसा पहचान पत्र बनवा सकता है, जिससे उसकी नागरिकता भारत की प्रदर्शित हो। लेकिन यूनुस ने डासना नगर पंचायत की वोटर लिस्ट में नाम जुड़वा रखा था और उसने मतदाता पहचान पत्र व राशन कार्ड बनवाया हुआ था।