बच्चे और मानसिक विक्षिप्त भी फांसी पर चढ़ा दिये जाते हैं पाकिस्तान में

नई दिल्ली (18 दिसंबर): मानवाधिकार हनन के मामले में पाकिस्तान दुनिया टॉप टेन में सबसे ऊपर आता है। खास तौर से फांसी दिये जाने के मामले में पाकिस्तान का रिकॉर्ड तो बहुत ही गंदा है। पाकिस्तान में मानसिक विक्षिप्त, विकलांग और नाबालिग कैदियों को भी फांसी पर चढ़ा दिया जाता है। यह खुलासा खुद पाकिस्तान के ही मीडिया ने किया है। पेशावर सैनिक स्कूल पर आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान ने फांसी की सजा आम कर दी थी। पिछले तीन साल के कुल 419 अपराधियों को फांसी की सजा दी गयी है। इसमें से आतंकवादी सिर्फ 19 फीसदी थे। बाकी अन्य अपराधों में सजा पाये कैदी थे। अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठन ने बच्चों, विकलांग और मानसिक विक्षप्तों को फांसी दिये जाने पर गंभीर चिंता जताई है।