कश्मीर की बात करने वाला पाकिस्तान रियो ओलंपिक में भारत से 17 गुणा है पीछे

नई दिल्ली(3 अगस्त): रियों ओलंपिक में इस बार जहां भारत 119 खिलाड़ियों का अपना सबसे बड़ा दल भेज रहा हैं, तो वहीं पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के सिर्फ 7 खिला़डी इसमे भाग लेंगे।

- भारत के साथ क्रिकेट में बराबरी करने वाले पाकिस्तान के लिए सबसे खराब बात यह है कि बरमूडा जैसे छोटे देश से उससे ज्यादा खिलाड़ी ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर गए। इसके अलावा इस बार पाकिस्तान की हॉकी टीम भी ओलंपिक में नजर नहीं आएगी। यह पहली बार है कि पाकिस्तान की टीम इस बार हॉकी के मैदान में नहीं उतरेगी।

- कमाल की बात यह है कि सातों में से किसी भी खिलाड़ी ने अपने प्रदर्शन से इन खेलों में सीधे तरीके से क्वालिफाई नहीं किया है। तीन खिलाड़ियों को महाद्वीप का कोटा दिया गया है और बाकी चार खिलाड़ी वाइल्ड कार्ड के जरिए रियो जाएंगे।

- इस बार ओलंपिक में 206 देश हिस्सा लेंगे। आजाद होने के 68 साल बाद पाकिस्तान ने अब तक ओलंपिक में सिर्फ 10 पदक जीते हैं – 8 हॉकी में और दो व्यक्तिगत।

- पाकिस्तान के तरफ से शूटिंग, तैराकी और एथेलेटिक्स में दो-दो और एक खिलाड़ी जूड़ो में उतरेगा। पाकिस्तान ने हॉकी, क्रिकेट, स्नूकर और स्क्वॉश में वर्ल्ड चैंपियंस दिए हैं।