Blog single photo

फेक करेंसी और टेरर फायनेंसिंग के कारोबर में फिर जुटा पाकिस्तान

पाकिस्तान अपने दूतावासों में तैनात कर्मचारियों के मार्फत नकली भारतीय करैंसी को नेपाल और बांग्लादेश के रास्ते भारत पहुंचाने में लगा है। खुफिया जांच में पता चला है कि पाकिस्तान अच्छी गुणवत्ता

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (9 अक्टूबर): मोदी ने अपने पहले कार्यकाल में नोटबंदी का ऐलान करके टेरर फायनेंस रूट को ध्वस्त कर दिया था, लेकिन पाकिस्तान ने एक बार फिर से नकली करैंसी टेरर फायनेंस रूट को जिंदा करने की हिमाकत की है। इस बार पाकिस्तान अपने दूतावासों में तैनात कर्मचारियों के मार्फत नकली भारतीय करैंसी को नेपाल और बांग्लादेश के रास्ते भारत पहुंचाने में लगा है।खुफिया जांच में पता चला है कि पाकिस्तान अच्छी गुणवत्ता वाले नकली नोटों की बड़े पैमाने पर स्मगलिंग कर रहा है ताकि फेक इंडियन करंसी नोट (एफआईसीएन) के जरिए गैर-कानूनी गतिविधियों और आतंकी समूहों को बढ़ावा दिया जा सके। नकली नोटों को लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे संगठनों तक पहुंचाने का भी काम हो रहा है। 

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बड़ी संख्या में पाकिस्तान से नकली नोटों को 2016 से पहले के अपने नेटवर्क और चैनलों के जरिए व्यवस्थित तरीके से भारत में लाने का काम हो रहा है। जानकार सूत्र का कहना है कि सबसे चौंकानेवाली बात है कि पाकिस्तान इसके लिए कूटनयिक मार्गों का भी दुरुपयोग कर रहा है। नेपाल, बांग्लादेश और दूसरे देशों के माध्यम से पाकिस्तान नकली नोटों को भारत में पहुंचाने का काम कर रहा है।

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई इस बार ज्यादा बेहतर गुणवत्ता वाले नकली नोटों को बना रहा है। पहले के फोटोकॉपी नोट्स की तुलना में ये नोट काफी अच्छी क्वॉलिटी के हैं। बता दें कि इसी साल मई में नेपाल के काठमांडू एयरपोर्ट से डी-कंपनी से जुड़े यूनुस अंसारी को अरेस्ट किया। उसके साथ 3 पाकिस्तानी नागरिक भी गिरफ्तार किए गए थे। इनके पास से 76.7 मिलियन के भारतीय मुद्रा के नकली नोट बरामद किए गए। नकली नोटों को भारत पहुंचाने के लिए पाकिस्तान अलग-अलग धड़ों का प्रयोग कर रहा है। 22 सितंबर को खालिस्तान समर्थक खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के पास से 1 करोड़ रकम के नकली नोट बरामद किए थे। इस ग्रुप के पास से पुलिस ने 5 एके-47 राइफल्स, 30 बोर पिस्टल, 9 हैंड ग्रेनेड, 5 सैटलाइट फोन, 2 मोबाइल फोन भी बरामद किए गए थे। यह सारा सामान पाकिस्तानी ड्रोन्स के जरिए पहुंचाया गया था।

25 सितंबर को ढाका से पुलिस ने 4.95 मिलियन के नकली नोट बरामद किए थे। दुबई के रहनेवाले सलमान शेरा ने यह पार्सल सिलहट बांग्लादेश में भेजा था। जांच में पता चला कि पार्सल सिलहट से श्रीनगर के उपाजिला में पहुंचाया जाना था। जांच में खुलासा हुआ कि सलमान शेरा पाकिस्तान के आईएसआई से जुड़े कुख्यात असलम शेरा का बेटा है। असलम 90 के दशक से नकली करंसी के बारोबार में है।

Images Courtesy:Google

Tags :

NEXT STORY
Top