ट्रंप की चेतावनी से डरा पाकिस्तान

नई दिल्ली(25 अगस्त): आतंकवाद पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की चेतावनी से पाकिस्तान परेशान है। पीएम शाहिद खाकान अब्बासी की अगुआई में हुई हाईलेवल मीटिंग के बाद पाक ने बयान जारी कर कहा है, "हमें बलि का बकरा बनाने से जंग जैसे हालात से जूझ रहे अफगानिस्तान में स्थिरता लाने में मदद नहीं मिलेगी।" 

- बता दें कि ट्रम्प ने कुछ दिनों पहले कहा था कि अगर पाकिस्तान आतंकियों के लिए सुरक्षित ठिकाना बना रहा तो उसे अंजाम भुगतना होगा, अमेरिका इस मसले पर चुप नहीं बैठेगा। 

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक पीएम अब्बासी की अगुआई में पाक की नेशनल सिक्युरिटी कमेटी की मीटिंग गुरुवार को हुई, जिसमें विदेश और आतंरिक मामलों के मंत्री, तीनों सर्विस चीफ और खुफिया एजेंसी ISI (इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस) के हेड शामिल हुए। पीएम हाउस में 4 घंटे चली इस मीटिंग में ट्रम्प के अफगानिस्तान और साउथ एशिया पर दिए गए बयान पर चर्चा हुई।

- पाकिस्तान ने कहा, "इस्लामाबाद को अरबों डॉलर की मदद का दावा कर अमेरिका ने दुनिया को गुमराह किया है। असलियत ये है कि हमें आर्थिक मदद के बजाय यूएस ने अफगानिस्तान में अपने ऑपरेशन, एयर कॉरिडोर के इस्तेमाल और ग्राउंड फैसिलिटीज की कॉस्ट (लागत) की आंशिक भरपाई की है।"