VIDEO: हाफिज सईद की रैली में बुरहान और दाऊद बनने की भरवाई हामी

इस्लामाबाद (7 फरवरी): पाकिस्तान में हाफिज सईद के समर्थन में हुई एक रैली में दाऊद इब्राहिम के नाम के नारे लगवाए गए। आतंक के आका हाफिज सईद को नजरबंद किए जाने के खिलाफ ये रैली हुई। रैली में शामिल लोगों से इस बात पर हामी भरवाई गई कि वो बुरहान वानी और दाऊद इब्राहिम बनना चाहते हैं ना कि एसपी, डीएम, वकील या जज।

आतंक का आका हाफिज सईद पाकिस्तान में नजरबंद भले ही हो, लेकिन उसके नापाक मंसूबे की तस्वीर खुलेआम पाकिस्तान की सड़कों पर नजर आ रही है। भारत के खिलाफ जहर उगलने वाले हाफिज सईद के गुर्गों ने इसकी कमान संभाल रखी है। पाकिस्तान में हाफिज सईद के समर्थन में की गई एक रैली में मंच से अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम के नाम से भी नारे लगवाए गए।

साफ है कि पाकिस्तान में छुपे बैठे दाऊद और हाफिज सईद के बीच कनेक्शन है। हाफिज़ सईद की नज़रबंदी के बाद लश्कर-ए-तैयबा की तरफ से पाकिस्तान में एक रैली बुलाई गई। इस रैली में मंच से वहां मौजूद लोगों से पुलिस, एसपी और जज जैसे ऑप्शन पर ना जबकि बुरहान वानी और दाऊद बनने पर लोगों ने हामी भरी। भारत के मोस्ट वांटेड आतंकवादी हाफिज़ सईद के बेटे तल्हा सईद ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर ये वीडियो शेयर किया है।

जाहिर है जब आतंक के आका के समर्थन में रैली हो तो वहां आतंकवादियों के पक्ष में ही आवाज बुलंद की जाएगी। पिछले साल 8 जुलाई को कश्मीरी मिलिटेंड ग्रुप के कमांडर बुरहान वानी को एनकाउंटर में मार गिराया गया था। जबकि 1993 के मुंबई बम धमाकों का मास्टरमाइंड पाकिस्तान में छिपा बैठा है। दोनों ही हाफिज सईद के लिए कितना मायने रखता है, ये उसी की तस्वीर है।

दरअसल हाफिज सईद को जबसे नजरबंद किया गया है तभी से लश्कर-ए-तैयबा और जमात-उद-दावा के समर्थक नए नाम से हाफिज के समर्थन में पाकिस्तान में रैलियों का आयोजन कर रहे हैं। हाफिज ने अपने संगठन जमात-उद-दावा का नाम बदलकर तहरीके आजादी जम्मू-कश्मीर रख लिया है। और अब इसी बैनर के तहत हाफिज़ की रिहाई की मांग की जा रही है। खुद को नजरबंद किए जाने को लेकर हाफिज ने एक वीडियो जारी किया था। इसमें दिए गए उसके बयान से साफ पता चलता है कि उसे अपने खिलाफ कार्रवाई की भनक थी। यही वजह है कि उसने पहले से ही रैलियों के प्लान का जिक्र करते हुए अपनी नजरबंदी के लिए भारत के पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को जिम्मेदार ठहराया था।

अपने इसी वीडियो में हाफिज सईद ये बताता हुआ नजर आया कि अमेरिका दोस्ती निभाने के लिए भारत का साथ दे रहा है तो पाकिस्तान कार्रवाई करने के लिए मजबूर है। साथ ही उसने ये भी जता दिया कि आतंकवाद उसका मकसद है और वो इसी राह पर चलता रहेगा।

मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद भारत के खिलाफ न सिर्फ आग उगलता रहा है बल्कि साजिशें भी रचता रहा है। लेकिन पाकिस्तान उसके खिलाफ कार्रवाई को लेकर उदासीन बना रहा। अंतर्राष्ट्रीय दबाव के बाद पाकिस्तान ने उसके खिलाफ कार्रवाई तो की, लेकिन इसको लेकर वो कितना गंभीर है इसका अंदाजा उसकी जमीन पर आतंक के आका के समर्थन में खुलेआम हो रहे ऐसे प्रदर्शनों और उसमें की जा रही नारेबाजी से लगाया जा सकता है।

वीडियो: