हिज्बुल कमांडर सबजार के मारे जाने से बौखलाया पाकिस्तान, UN से की हस्तक्षेप की अपील

नई दिल्ली ( 28 मई ): पाकिस्तान का सबजार अहमद के मारे जाने के बाद एक बार फिर कश्मीर के आतंकियों के प्रति प्रेम जाग उठा है। शनिवार को पाकिस्तान ने शीर्ष हिज्बुल कमांडर सबजार अहमद और अन्य आतंकियों के जम्मू एवं कश्मीर में मारे जाने की पाक ने निंदा की है।

पाकिस्तान ने इस मामले में हस्तक्षेप कर संयुक्त राष्ट्र व मानवाधिकार संगठनों सहित अंतरराष्ट्रीय समुदाय का आह्वान किया। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने न्यायविरोधी हत्या का भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि भारत ने पुलवामा और बारामूला में कल शुक्रवार से 12 कश्मीरी युवकों को मार डाला। उनमें से तीन की न्यायेतर हत्या की गई, जैसा कि हाल के दिनों में कई बार किया जा चुका है।

अजीज ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से आग्रह किया कि वह असहाय कश्मीरियों की निर्मम हत्या करने से भारत को तत्काल रोके।

गौरतलब है कि सबजार को पुलवामा जिले के त्राल कस्बे में एक गांव में चार घंटे चली मुठभेड़ में उसके दो साथियों सहित मार गिराया गया था। हिज्बुल ने उसे बुरहान वानी का उत्तराधिकारी घोषित किया गया था, जिसे पिछले वर्ष आठ जुलाई को मार गिराया गया था।

एक अन्य घटना में सेना ने उस समय छह आतंकवादियों को मार गिराया था, जब उन्होंने शनिवार को बारामूला जिले में नियंत्रण रेखा पर रामपुर सेक्टर में घुसपैठ की एक कोशिश नाकाम की।