अमेरिका के आगे गिड़गिड़ाया पाक, बोला- भारत को ना दो ये हथियार


नई दिल्‍ली (28 अक्टूबर):
अमेरिका अपने दोस्त भारत को एक ऐसा गिफ्ट देने वाला है, जिसे पाते ही भारत की सैन्य ताकत कई गुना बढ़ जाएगी। डोनाल्ड ट्रंप भारत को जैसे ही ये तोहफा देंगे पाकिस्तान और चीन दोनों बौखला जाएंगे। क्योंकि इस अस्त्र से हिंदुस्तान दोनों देशों पर भारी पड़ने लगेगा। इसी को देखते हुए पाकिस्तान ने अमेरिका के आगे गिड़गिड़ाते हुए इस हथियार को भारत को नहीं देने की मांग की है।

अमेरिका के भारत को प्रीडेटर ड्रोन देने के फैसले पर मुहर लगने से पहले ही पाकिस्तान चिंता में छटपटा रहा है। वो भारत को प्रीडेटर ड्रोन दिए जाने का विरोध कर रहा है और अपने इसी डर को छिपाने के लिए पाकिस्तान तरह तरह के तर्क दे रहा है। पाकिस्तान का कहना है कि अगर अमेरिका भारत को प्रीडेटर ड्रोन्स देता है तो इनका गलत इस्तेमाल हो सकता है और इलाके में टकराव बढ़ सकता है।

पाकिस्तान ने कहा कि आर्म्ड ड्रोन का इंडियन मिलिट्री गलत इस्तेमाल कर सकती है। इंटरनेशनल लेवल पर जब भी आर्म ट्रांसफर हों तो उस इलाके के हालात को ध्यान में रखा जाए। इससे साउथ एशिया के हालात पर असर पड़ेगा। इतना ही नहीं पाकिस्तान ने ये भी कहा कि इस तरह की किसी भी डील से पहले मिसाइल टेक्नोलॉजी कंट्रोल रिजीम की गाइडलाइन्स को पालन किया जाना चाहिए।

दुनिया जानती है कि पाकिस्तान के इन दलीलों के पीछे सिर्फ और सिर्फ उसका डर है। डर इस बात कि हिंदुस्तानी आसमान पर प्रीडेटर ड्रोन की तैनाती के बाद उसके आतंकियों का काल निश्चित है। प्रीडेटर ड्रोन की पहरेदारी में भारत की जमीन से लेकर आसमान तक में घुसना उसके लिए नामुमकिन हो जाएगा।

भारत के लिए अमेरिकी ड्रोन किसी ब्रह्मास्त्र से कम नहीं। अमेरिका के प्रिडेटर ड्रोन्स जेट की रफ्तार से उड़ते हैं। इन ड्रोन्स के मिलने के बाद भारत ना सिर्फ पाकिस्तान बल्कि चीन पर भी आसानी से नजर रख सकेगा। देश की सुरक्षा के लिहाज से देखें तो इसके आने के बाद सर्विलांस सिस्टम के मामले में भारत पाकिस्तान और चीन दोनों से काफी आगे निकल जाएगा।