SC के आदेश के बाद भी पाक सरकार नहीं बनवा रही हिंदू संत की समाधि

कुंदन सिंह, नई दिल्ली (28 जुलाई): पाकिस्तान के खैबर पख्तुनख्वा प्रांत के टेरी में बनी एक हिंदू संत की समाधि जो की बीते 100 सालों से पाकिस्तान में हिंदुओं का प्रमुख तीर्थ स्थल बना हुआ था, उसे 1997 में वहा के कट्टरपंथियों ने तोड़ दिया। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी पाक सरकार इसे नहीं बना रही हैं, जिससे पाकिस्तान के हिंदू समाज आहात है। आज ये मुद्दा महराजगंज सांसद सिग्रीवाल ने उठाया। गृह मंत्री ने आस्वस्त किया कि और पाकिस्तान यात्रा में दौरान ये मुद्दा उठाएंगे।

प्राचीन दस्तावेजों के अनुसार, 1919 में तेरी गांव में जिस स्थान पर श्री परमहंस जी ने देह त्यागी थी, उसी स्थान पर उनकी समाधि बनवा दी गई थी। 1997 तक लगातार वहां श्रद्धालु जाकर महाराज को श्रद्धांजलि अर्पित करते थे। इसके बाद मुसलमान समुदाय के कुछ लोगों ने इस मंदिर को तोड़कर इस स्थान पर कब्जा कर लिया था।

दस्तावेजों के मुताबिक, सिंध प्रांत के कुछ हिंदू बुजुर्गों ने मामले में हस्तक्षेप करते हुए संबंधित समुदाय को तीन लाख 75 हजार रूपये भी दे दिए थे। लेकिन पैसो लेने के बाद भी मुफ्ती ने संपत्ति पर कब्जा बरकरार रखा। सुप्रीम कोर्ट ने श्री वंकवानी की याचिका पर ध्यान देते हुए प्रांत की सरकार को कराक के इस मंदिर का पुनर्निर्माण कराने के आदेश दिए।