जहां लादेन मरा, वहां बने प्लेग्राउंड या कब्रिस्तान? सेना-प्रशासन में विवाद

नई दिल्ली (23 जुलाई): पाकिस्तान के एबटाबाद शहर में उस जगह को लेकर विवाद पैदा हो गया है। जहां अलकायदा का पूर्व नेता ओसामा बिन लादेन रहता था और मारा गया।

- बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, स्थानीय प्रशासन वहां बच्चों के लिए प्लेग्राउंड बनाना चाहते हैं। जबकि, मिलिट्री कब्रिस्तान। - दोनों पक्ष जमीन पर नियंत्रण को लेकर झगड़ रहे हैं।  - बुधवार को मिलिट्री ने स्थानीय प्रशासन को चौंकाते हुए इस जगह पर दीवार खड़ी कर दी।  - लादेन को अमेरिकी रेड में मई 2011 में इस जगह पर मार गिराया गया था। - वह वहां मारे जाने से पहले कई सालों से सीक्रेट तरीके से रह रहा था। तब से यह जमीन खाली पड़ी है। - यह ऊंची दीवारों के पीछे एक तीन मंजिला इमारत थी। 

-  जगह का कुल एरिया 3,530 वर्गमीटर है। जिसकी मार्केट वैल्यू 2,85,000 डॉलर (1.91 करोड़ रुपए) है। - लादेन की मौत के बाद जमीन खैबर पख्तुनख्वा प्रांत को सौंप दी गई थी। जिसने इस ढ़ांचे और बाउंड्री बॉल्स को गिरा दिया।  - ऐसा इसलिए किया गया, जिससे कि यह जगह जिहादियों और उसके समर्थकों का अड्डा ना बन जाए। - अब स्थानीय प्रशासन और मिलिट्री के बीच में इस जमीन के इस्तेमाल को लेकर विवाद है।