डोभाल-जंजुआ की गुप्त मीटिंग के बाद हुई पठानकोट हमले की पाकिस्तान में एफआईआर

नई दिल्ली (24 फरवरी): पठानकोट एयरबेस पर हमला करने वालों के खिलाफ एफआईआर लिखने से पहले पाकिस्तान के एनएसए नसीर ख़ान जंजुआ ने भारत के एनएसए अजीत डोभाल से गोपनीय मुलाकात की थी। ये मुलाकात पेरिस में जनवरी के दूसरे हफ्ते में हुई थी। पठानकोट हमला 2 जनवरी को हुआ था। इस मुलाकात में जंजुआ ने अजीत डोभाल को अपने देश के मौजूदा हालात सामने रख कर सचिव स्तरीय वार्ता स्थगित न करने का आग्रह किया था, लेकिन अजीत डोभाल ने साफ कह दिया कि जब तक पठानकोट के गुनाहगारों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी, तब तक वार्ता का सवाल ही नहीं है।

उसी वक्त यह तय गो गया था कि पाकिस्तान पठानकोट के मास्टरमाइंट मसूद अज़हर के खिलाफ कार्रवाई तो करेगा लेकिन कुछ समय लगेगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, डोभाल और जंजुआ की पेरिस में मुलाकात से पहले ही भारत ने पठानकोट हमले में जैश-ए-मोहम्मद का हाथ होने के सबूत जुटा लिए थे। पेरिस में हुई भारत-पाक के एनएसए की गोपनीय बैठक इससे पहले 6 दिसंबर को भी डोभाल और जंजुआ ने बैंकॉक में भी हुई थी।