दावोस में कश्मीर का रोना रोया पाकिस्तान

नई दिल्ली(27 जनवरी): पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने स्विट्जरलैंड के दावोस में चल रहे विश्व आर्थिक फोरम के सम्मेलन में भी कश्मीर का राग छेड़ा। 

- शाहिद खाकन अब्बासी ने कहा कि कश्मीर और रोहिंग्या विश्व को बांटने वाले मामले हैं। इन पर वैश्विक स्तर पर चर्चा की जरूरत है।

- बता दें कि आतंकवाद को लेकर चौतरफा वार झेल रहा पाकिस्तान वैश्विक मंचों से हमेशा कश्मीर का मुद्दा उठाता रहा है। अब उसने इस मामले को दावोस में भी गरमाने की कोशिश की है। दावोस में अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए पाकिस्तान के पीएम ने कहा कि उनका देश चीन और अमेरिका के साथ संबंधों के मजबूत बने रहने की उम्मीद करता है।

- इसके साथ ही उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव और चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर जैसी परियोजनाओं की वजह से पाक के संबंध चीन से बेहतर हुए हैं। 

- उन्होंने कहा कि अमेरिका को पाक के साथ अपने संबंधों को स्वतंत्र नजरिए से देखना चाहिए, न कि किसी तीसरी आंख से। अमेरिका पिछले कुछ सालों से अफगान के चश्मे से पाक को देख रहा है। वहीं एक प्रश्न के उत्तर में पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मुहम्मद आसिफ ने कहा कि कश्मीर और रोहिंग्या जैसे मुद्दों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबके सामने लाए जाने की जरूरत है।