आतंकी हाफिज सईद से डरा पाकिस्तान, इस डर से नहीं करेगा सख्त कारवाई

नई दिल्ली (20 फरवरी): मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद के संगठन जमात उद दावा और फलाह ए इंसानियत पर कड़ी कार्रवाई को लेकर बड़ी बात सामने आई है। पाक मीडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने हाफिज के जमात-उद दावा (JuD) और फलेह-ए-इंसानियत (FIF) जैसे संगठनों पर कड़ी कार्रवाई का फैसला टाल दिया है। इसके पीछे वजह बताई जा रही है कि ऐसा करने से पाकिस्तान में राजनीतिक संकट पैदा हो सकता है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तरफ से पाक को आतंकी समर्थित देश ठहराने और 2 बिलियन डॉलर की मदद बंद करने के बाद पाकिस्तान पर आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई का दवाब बढ़ गया था।

समाचार ने पिछले महीने हुई एक बैठक में भाग लेने वाले दो अलग-अलग स्रोतों का हवाला देते हुए रिपोर्ट में बताया कि इस मीटिंग में अब्बासी ने कहा कि दोनों संगठनों पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए, लेकिन आंतरिक मंत्री अहसान इक्बाल का मानना था कि अगर इस समय इन संगठनों पर प्रतिबंध लगा दिया गया तो सरकार को इसी तरह के संकट का सामना करना पड़ेगा जैसा पिछले साल नवंबर में हुआ था। गौरतलब है कि बीते साल नवंबर में चुनाव सुधार विधेयक, 2017 में संशोधन के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन हुए थे। तहरीक-ए-लब्बैक या रसूल अल्लाह नाम के इस्लामिक संगठन के इस प्रदर्शन के चलते इस्लामाबाद और रावलपिंडी में सब कुछ थम सा गया था। इन प्रदर्शनों के बाद कानून मंत्री को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था।