मीटिंग की बातें लीक करने वाला अफसर बर्खास्त, नवाज और सेना में ठनी

नई दिल्ली(30 अप्रैल): पाक पीएम नवाज शरीफ ने अपने एक स्पेशल असिस्टेंट तारिक फातमी को बर्खास्त कर दिया। तारिक फॉरेन अफेयर्स देखते थे।


- पिछले साल अक्टूबर में नवाज और आर्मी के आला अफसरों की हाईलेवल मीटिंग हुई थी। इस मीटिंग में नवाज ने आर्मी को आतंकियों के खिलाफ सिलेक्टेड एक्शन लेने के लिए फटकार लगाई थी।


- मीटिंग के प्वॉइंट्स अगले दिन ‘द डॉन’ अखबार ने पब्लिश कर दिए थे। इसको लेकर आर्मी नाराज थी। जांच के लिए बनाई गई कमेटी ने फातमी को लीक का दोषी पाया था। हालांकि, नवाज के एक्शन को आर्मी ने अधूरा बताया है।


- पिछले साल 3 अक्टूबर को नवाज ने आर्मी के टॉप अफसरों के साथ एक मीटिंग की थी। इसमें तब के आर्मी चीफ राहिल शरीफ भी मौजूद थे। नवाज के कुछ मिनिस्टर भी मीटिंग में शामिल हुए थे।


- मीटिंग में नवाज ने आर्मी से साफ कहा था कि अगर उसने आतंकियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं की तो पाकिस्तान दुनिया में अलग-थलग पड़ जाएगा।


- नवाज ने ये बात भारत और अफगानिस्तान में हो रहे आतंकी हमलों में पाकिस्तान की सरजमीं के इस्तेमाल पर कही थी। भारत और अफगानिस्तान के अलावा अमेरिका ने भी पाकिस्तान से कहा था कि वहां की आर्मी सिर्फ चुनिंदा आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करती है।


- खास बात ये है कि कॉन्फिडेंशियल मीटिंग की बातें अगले दिन ‘द डॉन’ ने पहले पेज पर छाप दीं। इससे आर्मी नाराज हो गई।


- नवाज ने कुछ दिनों बाद इन्फॉर्मेशन मिनिस्टर परवेज राशिद को बर्खास्त कर दिया। रिटायर्ड जस्टिस आमिर रजा खान की अगुआई में जांच कमेटी बनाई गई।


- इस कमेटी ने पिछले दिनों नवाज को रिपोर्ट सौंपी। इसके बाद फातमी को लीक के आरोप में बर्खास्त कर दिया गया।


- फातमी को हटाए जाने के बाद भी आर्मी खुश नहीं है। मिलिट्री स्पोक्सपर्सन मेजर जनरल आसिफ गफूर ने एक ट्वीट में कहा- ये अधूरा एक्शन है। जांच कमेटी ने जो तमाम रिकमंडेशंस की हैं, उन्हें उसी तौर पर लागू किया जाना चाहिए।


- ‘द डॉन’ ने 4 अक्टूबर को जो खबर फ्रंट पेज पर लीड स्टोरी के तौर पर छापी थी, उसको एक क्रिश्चयन जर्नलिस्ट सिरिल अलमीडा ने लिखा था। तब अलमीडा से पूछताछ भी हुई थी और नवाज सरकार ने सिरिल के देश छोड़ने पर रोक भी लगा दी थी।


- अलमीडा के समर्थन में देश और दुनिया के जर्नलिस्ट सामने आए थे। बढ़ते दबाव की वजह से नवाज सरकार को अलमीडा पर लगा बैन हटाना पड़ा था।


- इस तमाम कवायद के बीच पाकिस्तानी मीडिया में इस तरह की खबरें आती रहीं कि सरकार और सेना के बीच रिश्ते काफी खराब होते जा रहे हैं।


- राहिल शरीफ कुछ महीने पहले रिटायर हो चुके हैं और अब कमर जावेद बाजवा आर्मी चीफ हैं।