ना'पाक' हरकत, 5 साल में 298 भारतीयों को दी नागरिकता

नई दिल्ली (20 अगस्त): पाकिस्तान लगातार भारत के खिलाफ साजिश रच रहा है। पाकिस्तान भारत के खिलाफ आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है, शरहद पर लगातार सीजफायर का उल्लंधन कर रहा है वहीं भारत के खिला नापाक मंसूबा रखने वालों को अपने यहां पनाह और नागरिकता भी दे रहा है। पाकिस्तान ने पिछले 5 साल में अपने यहां 296 भारतीयों को नागरिकता दी है। हालांकि इनमें कई ऐसे लोग भी शामिल हैं जो लंबे असरे से निजी कारणों से पाकिस्तानी नागरिकता के भटक रहे थे।

पाकिस्तान के गृह मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, 2012 से लेकर 14 अप्रैल 2017 तक 298 भारतीय अप्रवासियों को पाकिस्तान ने नागरिकता दी है। सत्तारूढ़ पाकिस्तान मुस्लिम लीग के सांसद शेख रोहेल असगर ने कहा कि 2012 में पाकिस्तान ने 48 भारतीयों को नागरिकता दी थी। वहीं 2013 में 75 जबकि 2016 में 76 लोगों को पाकिस्तान की नागरिकता दी गई। 2015 में केवल 15 अप्रवासियों को पाकिस्तान ने नागरिकता दी थी। वहीं 2016 की बात करें तो 69 लोगों को नागरिकता मिल चुकी है। इस साल अप्रैल तक ही 14 लोगों को पाकिस्तानी नागरिकता मिल चुकी है।

नागरिकता देने के मामले में पाकिस्तान की नीति सख्त मानी जाती रही है। बीते साल मार्च में पाकिस्तान के गृह मंत्री चौधरी निसार अली खान ने एक भारतीय महिला को पाकिस्तानी नागरिकता दी थी। इस महिला के पति का सालों पहले निधन हो चुका था। महिला ने साल 2008 में ही नागरिकता पाने के लिए आवेदन दिया था लेकिन वह तबसे लंबित थी। महिला ने काफी समय पहले पाकिस्तानी शख्स से शादी की थी। पति की मौत के बाद महिला के सौतेले बेटे ने उसे कथित तौर पर संपत्ति से बेदखल कर दिया था।